दुनिया

दुनिया (66)

नई दिल्ली: सऊदी अरब ने किया बड़ा एलान- सभी हज यात्री सऊदी अरब में रह रहे लोग ही होंगे। अंतरराष्ट्रीय हज यात्रियों को अनुमति नहीं दी जाएगी। आमतौर पर दुनियाभर से हर साल हज यात्रा पर 20 लाख लोग शामिल होते हैं। इससे पहले ऐसी अटकलें चल रही थीं कि इस साल सऊदी अरब हज यात्रा को मंजूरी देगा या प्रतीक के तौर पर बहुत कम लोग हज करेंगे। यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि क्यों सऊदी अरब सरकार ने हज यात्रा से मात्र 5 सप्ताह पहले यह फैसला लिया है। माना जा रहा है कि दुनियाभर के मुस्लिमों की भावनाओं को देखते हुए सऊदी अरब सरकार ने यह फैसला इतनी देरी से लिया है। सऊदी अरब ने अपनी स्थापना के 90 साल के अंदर कभी भी हज यात्रा को रद्द नहीं किया है। सऊदी अरब के शाह का परिवार कई पीढिय़ों से मक्का में आयोजित होने वाली हज यात्रा का संरक्षक है।

शेयर करे...

नई दिल्ली: अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने ऐसा टॉयलट तैयार किया है जिससे स्पेस में महिला ऐस्ट्रोनॉट्स को बेहद सहूलियत होने वाली है। अभी तक टॉइलट पुरुषों को ध्यान में रखकर बनाए जाते थे। महिला ऐस्ट्रोनॉट्स की संख्या बढऩे के साथ यह बदलाव आया है ताकि महिलाओं को स्पेस में आसानी हो सके। 23 मिलियन डॉलर यानी 174 करोड़ रुपए से ज्यादा के बजट के इस टॉइलट को बनाने में 6 साल लगे हैं और इसे सितंबर तक इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन भेजे जाने की तैयारी है। अब तक महिलाओं के स्पेस में जाने में यह एक बड़ी चुनौती हुआ करती थी कि वहां उनके मुताबिक टॉइलट नहीं होते लेकिन महिला ऐस्ट्रोनॉट्स की संख्या बढऩे के साथ आखिरकार यह अहम जरूरत पूरी होने वाली है।

अभी तक स्पेस में इस्तेमाल की जा रही माइक्रोग्रैविटी टॉइलट (तस्वीर में) पुरुष ऐस्ट्रोनॉट्स को ध्यान में रखकर बनाए जाते थे लेकिन जैसे-जैसे महिला ऐस्ट्रोनॉट्स की संख्या बढ़ती गई, खास टॉइलट की जरूरत महसूस की जाने लगी। खासकर तब जब 2024 तक चांद पर भेजने के तहत एक महिला और एक पुरुष को भेजे जाने की तैयारी है। पहले के सिस्टम्स के मुकाबले इसका द्रव्यमान और आयतन कम होगा और इसे इस्तेमाल करना भी आसान होगा। यही नहीं, इसमें यूरिन ट्रीटमेंट की सुविधा भी होगी जिससे स्पेसक्राफ्ट के रीसाइक्लिंग सिस्टम में इसे प्रॉसेस किया जा सकेगा।

शेयर करे...

पकिस्तान: पाकिस्तानी टीवी चैनल से बातचीत के दौरान पाकिस्तानी जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री जरताज गुल ने कोविड- 19 का मतलब अपने हिसाब से ही बयां कर दिया। जिसके बाद कोरोना की नई परिभाषा का यह विडियो सोशल मीडिया में देखते ही देखते वायरल हो गया। दरअसल एक टीवी चर्चा के दौरान इमरान की मंत्री जरताज गुल ने कहा कि कोविड-19 का मतलब है कि इसके 19 प्वाइंट्स हैं जो किसी भी मुल्क में किसी भी तरीके से अप्लाइ हो सकता है और अपनी इम्यूनिटी को डेवलप करें। पाकिस्तान में कोरोना वायरस के कहर से आम जनता तो परेशान है ही, लेकिन वहां के राजनेता भी इससे अछूते नहीं हैं। कोरोना संक्रमित होने वाले पाकिस्तानी राजनेताओं में पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी, शाहिद खाकन अब्बासी, नवाज शरीफ के भाई और विपक्षी पार्टी मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के प्रमुख शहबाज शरीफ भी शामिल हैं।

शेयर करे...

नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया को कोरोना वायरस महामारी के एक नए और खतरनाक चरण की चेतावनी दी है। जिसमें लॉकडाउन के लागू होने के बावजूद बीमारी तेजी से फैल रही है। यह चेतावनी ऐसे समय पर आई है जब पता चला है कि वायरस पिछले साल दिसबंर में इटली में मौजूद था। इसके कई महीनों बाद इसका पहला पुष्ट मामला सामने आया था। ठीक इसी समय चीन में वायरस का पहला मामला दर्ज किया गया था। वायरस की वजह से दुनियाभर में 454,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और 8.4 मिलियन लोग इसकी चपेट में हैं। यह अब अमेरिका और एशिया के कुछ हिस्सों में तेजी से फैल रहा है। वहीं यूरोप ने प्रतिबंधों में ढील देनी शुरू कर दी है। बीमारी के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन से आर्थिक नुकसान हुआ है। हालांकि डब्ल्यूएचओ का कहना है कि महामारी अभी भी एक बड़ा खतरा बनी हुई है।

शेयर करे...

नई दिल्ली: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) के अस्थायी सदस्य के तौर पर चुना गया भारत अगस्त 2021 में 15 देशों वाली शक्तिशाली परिषद के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी निभाएगा। हर सदस्य देश बारी-बारी से एक माह के लिए परिषद की अध्यक्षता करता है। संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता के कार्यालय से जारी सूचना के अनुसार भारत अगले साल अगस्त में परिषद की अध्यक्षता करेगा। इसके बाद भारत 2022 में एक माह के लिए परिषद का अध्यक्ष बनेगा।

अगले साल जनवरी में ट्यूनीशिया परिषद का अध्यक्ष बनेगा। इसके बाद ब्रिटेन, अमेरिका, वियतनाम, चीन, एस्तोनिया, फ्रांस, भारत, आयरलैंड, केन्या, मेक्सिको और नाइजर एक-एक महीने के लिए अध्यक्ष बनेंगे। उल्लेखनीय है कि भारत सुरक्षा परिषद के चुनाव में मिले जबरदस्त समर्थन की मदद से दो साल के लिए इसका अस्थायी सदस्य चुना गया है। इस अभूतपूर्व चुनाव में 192 सदस्य देशों के राजनयिकों ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के मद्देनजर सामाजिक दूरी के नियमों का कड़ाई से पालन करते हुए और मास्क पहन कर मतदान किया।

सुरक्षा परिषद की पांच अस्थायी सीटों के लिए हुए चुनाव में एशिया-प्रशांत देशों की श्रेणी से उम्मीदवार भारत को 192 मतों में से 184 मत मिले। सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर भारत का दो वर्ष का कार्यकाल एक जनवरी 2021 से शुरू होगा। बेल्जियम, डोमिनिकन गणराज्य, जर्मनी, इंडोनेशिया और दक्षिण अफ्रीका का कार्यकाल इस साल समाप्त हो जाएगा। इससे पहले भारत 1950-1951, 1967-1968, 1972-1973, 1977-1978, 1984-1985, 1991-1992 और 2011-2012 में परिषद का अस्थायी सदस्य बना था।

शेयर करे...

नई दिल्ली: साल 2019 में देश में मोबाइल ऐप आधारित पेमेंट 163 फीसदी बढ़कर 287 अरब डॉलर पर पहुंच गया।ऐप द्वारा किए जाने वाले मोबाइल पेमेंट में अकाउंट-टू-अकाउंट मनी ट्रांसफर और स्टोर वैल्यू अकाउंट यानी अकाउंट में रखी राशि शामिल है। एसएंडपी ग्लोबल मार्केट इंटेलिजेंस की जारी रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि डेबिट और क्रेडिट कार्ड के जरिए पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) लेनदेन 24 प्रतिशत बढ़कर 204 अरब डॉलर पर पहुंच गया।

इनमें ऑनलाइन और एप के जरिए पेमेंट शामिल है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भुगतान एप्स के जरिए अब बड़ी संया में लेनदेन होता है। मोबाइल फोन का रिचार्ज, बिल पेमेंट व अन्यका मोबाइल के जरिए भुगतान बढ़ा है। दिलचस्प बात यह है कि 2019 में एटीएम से निकासी पहली बार मूल्य के हिसाब से कार्ड और मोबाइल पेमेंट से कम रही है। प्रत्येक एटीएम निकासी पर भारतीयों ने कार्ड या मोबाइल फोन के जरिए दो लेनदेन किए हैं।

शेयर करे...

नई दिल्ली: भारत बुधवार को 8वीं बार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य चुन लिया गया है। निर्विरोध चुने जाने के बाद अब भारत 2021-22 कार्यकाल के लिए संयुक्त राष्ट्र की सर्वोच्च संस्था का अस्थाई सदस्य बन जाएगा। 193 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अपने 75वें सत्र के लिए अध्यक्ष, सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्यों और आर्थिक एवं सामाजिक परिषद के सदस्यों के लिए चुनाव कराया था। भारत के साथ-साथ आयरलैंड, मेक्सिको और नॉर्वे को भी सुरक्षा परिषद में एंट्री मिली है जबकि कनाडा को बाहर ही रहना पड़ेगा।

जीत के बाद संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत नेतृत्व जारी रखेगा और एक बेहतर बहुपक्षीय व्यवस्था को नई दिशा देगा। भारत को 192 बैलट वोट्स में से 184 वोट मिले। तिरुमूर्ति ने कहा, मैं बहुत खुश हूं कि भारत को साल 2021-22 के लिए अस्थाई सदस्य चुन लिया गया है। हमें भारी समर्थन मिला है और संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों ने जो विश्वास जताया है उससे विनम्र महसूस कर रहा हूं।

शेयर करे...

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच हुई हिंसक झड़प पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय की निगाहें टिकी हुई हैं। संयुक्त राष्ट्र के बाद अब अमेरिका ने शांतिपूर्ण समाधान की उम्मीद जताई है। अमेरिका के गृह विभाग ने हिंसा में शहीद हुई भारत के जवानों के परिवारों से संवेदना प्रकट की है। बता दें कि लद्दाख में हुई हिंसा में भारत के 20 जवान शहीद हो गए जबकि चीन के भी 43 सैनिक हताहत हुए हैं।

ताजा हालात पर अमेरिका ने कहा है कि भारत और चीन दोनों ने पीछे हटने की इच्छा जाहिर की थी और हम मौजूदा हालात के शांतिपूर्ण समाधान का समर्थन करते हैं। 2 जून को टेलिफोन पर बातचीत के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-चीन सीमा के हालात पर चर्चा की थी। गृह विभाग के प्रवक्ता ने कहा, हम वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन की सेनाओं के हालात को मॉनिटर कर रहे हैं। हमें पता चला है कि भारतीय सेना ने अपने 20 जवान शहीद होने का ऐलान किया है, हम उनके परिवारों को सांत्वना देते हैं।

शेयर करे...

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का बढ़ता प्रकोप सोमवार को दुनिया में एक और रिकॉर्ड बना गया। विश्व में संक्रमितों की संख्या जहां 80 लाख का आंकड़ा पार कर गई वहीं मृतकों की संख्या 4.36 लाख को पार कर गई है। उधर, चीन में कोविड-19 के 67 नए मामले आने के बाद बीजिंग में बड़े स्तर पर परीक्षण बढ़ाते हुए प्रांत के बोडिंग शहर में मार्शल लॉ घोषित कर दिया है। चीन में हैबे प्रांत के बोडिंग शहर में सबसे बड़े थोक बाजार शिनफादी नए सिरे से कोविड-19 क्लस्टर बनने के कारण यहां महामारी रोकने के मकसद से मार्शल लॉ लगाया गया है।

स्थानीय नगरपालिका अधिकारियों ने कहा कि उच्च स्तर पर सतर्कता को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। यही नहीं बल्कि शिनफादी बाजार आसपास के जितने शहरों से जुड़ा हुआ है उनकी सीमाएं भी बंद कर दी गई हैं। चीन ने बीजिंग में यात्रा करने वाले लोगों का बड़े स्तर पर परीक्षण भी शुरू कर दिया है। देश में अब तक 67 और बीजिंग में 42 नए कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं। उधर, दुनिया में सोमवार की शाम तक कुल संक्रमितों की संख्या 80.17 लाख से पार हो गई है। इनमें 4.36 लाख लोग मारे जा चुके हैं। अमेरिका में मृतक संख्या कम हुई है लेकिन मरने वालों का आंकड़ा अब भी 1.17 लाख से ज्यादा है।

शेयर करे...

ईरान: इजरायल के रक्षा अधिकारियों ने दावा किया है कि ईरान परमाणु हथियार विकसित करने की अपनी योजना पर तेजी से काम कर रहा है। इजरायली खुफिया एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, ईरान अगले दो साल में परमाणु हथियार को विकसित कर सकता है। इसके लिए ईरान ने अपने परमाणु संवर्धन के काम को तेज किया है। बता दें कि अमेरिका के साथ परमाणु करार के टूटने के बाद ईरान ने यूरेनियम संवर्धन के गति को तेज कर दिया था। इजरायल ने आशंका जताई है कि ईरान 4 फीसदी की स्तर से यूरेनियम संवर्धन की अपनी नीति को जारी रखे हुए है। रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज़ को सौंपे गए एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ईरान एक परमाणु बम के सभी कंपोनेंट के उत्पादन से सिर्फ छह महीने दूर है और वह अगले दो साल में परमाणु हथियार बना सकता है।

शेयर करे...
Page 1 of 5