स्पोर्ट्स

स्पोर्ट्स (9)

नई दिल्ली. इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार को खेले गए महिला टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज को बाहर रखने के कप्तान हरमनप्रीत कौर के फैसले की भारतीय क्रिकेट जगत में काफी आलोचना हो रही है। मिताली को बाहर बैठाने पर उनकी मैनेजर अनीशा गुप्ता ने हरमनप्रीत को झूठी और चालाक करार दिया। हालांकि, टीम की मैनेजर तृप्ति भट्टाचार्य ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि मिताली को बाहर रखने का फैसला सिर्फ हरमनप्रीत का नहीं, बल्कि सामूहिक था। कोच और चयनकर्ता ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत हासिल करने वाली टीम को ही इंग्लैंड के खिलाफ उतारने पर सहमत थे।
अभ्यास सत्र के बाद मिताली पर फैसला लिया गया था : तृप्ति भट्टाचार्य
अनीशा ने ट्वीट में लिखा, "दुर्भाग्यवश भारतीय टीम राजनीति में विश्वास करती है, न कि खेल में। भारत और आयरलैंड मैच में मिताली का अनुभव कितना काम आया था, इसे देखने के बाद भी टीम ने 'अपरिपक्व', 'झूठी' और 'चालाक' हरमनप्रीत को मन की करने दी।" यह ट्वीट एक असत्यापित टि्वटर अकाउंट से किया गया था। वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने जब अनीशा से इस बारे में पूछा कि क्या यह उन्हीं का ट्विट हो तो मैनेजर ने हामी भरी और अपने बयान पर कायम रहीं। हालांकि उनका अकाउंट कुछ घंटे बाद डिलीट कर दिया गया।  वेबसाइट ने अनीशा के हवाले से लिखा, "मैं नहीं जानती की अंदर क्या चल रहा है, लेकिन मैचों का प्रसारण हो रहा है तो हम देख सकते हैं कि कौन प्रदर्शन कर रहा है और कौन नहीं। अच्छा प्रदर्शन करने के बाद भी मिताली के साथ क्या हो रहा है, इसे देखने की जरूरत है।" जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें अपने ट्वीट पर पछतावा है तो उन्होंने कहा, "हो सकता है कि मैं ज्यादा गुस्से में हूं, लेकिन यह बात सही जगह से आई है क्योंकि मैं गलत के साथ खड़ी नहीं रह सकती। जिस तरह का फेवरेटिजम दिखाया जा रहा है वो साफ तौर पर जाहिर है।" वहीं, तृप्ति ने रिपोर्ट में लिखा कि शुक्रवार शाम छह बजे अभ्यास सत्र के बाद कप्तान हरमनप्रीत, उप कप्तान स्मृति मंधाना, कोच रमेश पोवार और चयनकर्ता सुधा शाह ने आखिरी-11 की सूची को अंतिम रूप दिया था। ये सभी मिताली को बाहर रखने पर सहमत थे। तृप्ति ने मुताबिक, सुधा शाह आखिरी-11 को लेकर पूरी तरह संतुष्ट थीं और उन्होंने कोई आपत्ति नहीं जताई थी। हालांकि, तृप्ति की रिपोर्ट के बाद विवाद बढ़ सकता है, क्योंकि सेमीफाइनल तक पहुंचने के बाद भारत ने पहली बार फाइनल में पहुंचने का एक बढ़िया मौका खो दिया।

एंटीगा । ऑस्ट्रेलिया ने वेस्टइंडीज को 71 रन से हराकर आईसीसी महिला विश्व टी20 के फाइनल में प्रवेश किया है। ऑस्ट्रेलियाई टीम की जीत में एलिसा हीली की 46 रनों की पारी की अहम भूमिका रही। इसके अलावा उसके गेंदबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन किया। अब खिताबी मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई टीम का सामना प्रतिद्वंद्वी इंग्लैंड से होगा। इस मैच में आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए हीली के 38 गेंदों पर 46 रन और कप्तान मेग लैनिंग के 39 गेंदों पर 31 और राचेल हेन्स के 15 गेंदों पर नाबाद 25 रनों की सहायता से पांच विकेट पर 145 रन बनाये। इसके बाद लक्ष्य का पीछा करते हुए मेजबान वेस्टइंडीज की टीम 17.3 ओवरों में ही 71 रन पर सिमट गयी। इंडीज की केवल एक बल्लेबाज कप्तान स्टेफनी टेलर ही 16 रन बनाकर दो अंकों तक पहुंच पायी। आस्ट्रेलिया की तरफ से एलिस पेरी ने दो रन देकर दो विकेट, एशलीग गार्डनर ने 15 रन देकर दो विकेट और डेलिसा किमिन्स ने 17 रन देकर दो विकेट लिए।

कोलकाता। श्रीलंकाई टीम को विश्व कप का खिताब दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले कोच डेव वाटमोर ने गुरूवार को यहां कहा कि स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की गैरमौजूदगी में भारत के पास ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट श्रृंखला जीतने का अच्छा मौका होगा। वाटमोर यहां केरल के कोच के तौर पर बंगाल के खिलाफ रणजी मैच के लिए आये है। 

 
ईडन गार्डन्स में बंगाल को नौ विकेट से हराने के बाद उन्होंने कहा, ‘‘ स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की गैरमौजूदगी में भारत के पास जीतने का अच्छा मौका है।’’ उन्होंने मोहम्मद शमी की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘ वह लय में है और अच्छा गेंदबाज है। ऑस्ट्रेलिया में अच्छा करेगा।’’ 
 
उन्होंने ने हालांकि भारत से ऑस्ट्रेलिया को हलके में ना लेने की चेतावनी भी दी। उन्होंने कहा, ‘‘ अब ऑस्ट्रेलिया को कमतर नहीं आंक सकते वह भी तब जब उनके तेज गेंदबाज फिट और स्वस्थ हो।’’

कोलंबो। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने बुधवार को कहा कि उन्हें श्रीलंका के खिलाफ अंतिम टेस्ट की टीम से बाहर कर दिया गया है जिससे कि साथी तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राड को मैच अभ्यास का मौका मिल सके। इंग्लैंड की टीम तीसरे टेस्ट में जीत के साथ तीन मैचों की श्रृंखला में 3-0 से क्लीनस्वीप करने के इरादे से उतरेगी।

एंडरसन ने मैच से पूर्व कहा, ‘‘हां, मैं इस मैच में नहीं खेल रहा, ब्राड खेलेगा। इसके पीछे का विचार यह है कि श्रृंखला जीतने के बाद यह रोटेट करने का मौका है।’’ इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘वेस्टइंडीज भी जाना है (जनवरी में) और मुझे लगता है कि इसे देखते हुए वे चाहते हैं कि ब्राड को टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका मिले।’’
 
उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए यह एक हफ्ते का ब्रेक होगा। यह मेरे लिए हताशा भरा दौरा रहा क्योंकि आप जीत में योगदान देना चाहते हैं। लेकिन मुझे लगता है कि मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया लेकिन यह तेज गेंदबाजों की श्रृंखला नहीं थी।’’।।स्पिनरों के दबदबे वाली इस श्रृंखला के पहले दो मैचों में एंडरसन ने सिर्फ एक विकेट चटकाया।

मेलबर्न। आस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज मिशेल जानसन ने रविवार को कहा कि स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरन बैनक्राफ्ट पर गेंद से छेड़छाड़ करने के लिये लगा प्रतिबंध बरकरार रहना चाहिए क्योंकि इन्होंने बोर्ड की सजा को चुनौती नहीं दी है। आस्ट्रेलियाई क्रिकेट इस समय विकट स्थिति से गुजर रहा है और उसे हाल में कई मैचों में हार का सामना करना पड़ा जिससे स्मिथ और वार्नर को टीम में वापस लेने की मांग उठती जा रही है। 

 
दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ के मामले में तत्कालीन कप्तान स्मिथ और वार्नर पर एक एक साल जबकि बैनक्राफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध लगा है। जानसन हालांकि इन पर से प्रतिबंध हटाने के खिलाफ हैं। 

 

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘तीनों खिलाड़ियों पर प्रतिबंध लगा है। इसलिए इसका मतलब यह है कि अगर स्मिथ और वार्नर पर से प्रतिबंध हटता है तो कैमरन बैनक्राफ्ट का भी प्रतिबंध भी उतना ही कम होगा। इन सभी ने प्रतिबंध को स्वीकार किया है और इसके खिलाफ आवाज नहीं उठायी इसलिए मेरा मानना है कि प्रतिबंध बरकरार रहना चाहिए।’’
 
मेलबर्न। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने भारत के खिलाफ श्रृंखला से पहले आस्ट्रेलिया को सलाह देते हुए कहा है कि वे विराट कोहली से टकराने से बचे और उसके सामने चुप रहें। डु प्लेसिस ने शुक्रवार को कहा कि उनकी टीम ने इस साल की शुरूआत में खेली गई श्रृंखला में कोहली का सामना चुपचाप किया था। उन्होंने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें टकराव पसंद है। विराट कोहली भी उनमें से एक है।’’
 
दक्षिण अफ्रीका ने उस श्रृंखला में भारत को 2–1 से हराया था लेकिन कोहली ने तीन टेस्ट में 47–66 की औसत से 286 रन बनाये थे। डु प्लेसिस ने कहा, ‘‘हर टीम में ऐसे एक दो खिलाड़ी हैं जिनके बारे में हम उनके खिलाफ खेलने से पहले बात करते हैं। हमारी रणनीति उनके सामने खामोश रहने की ही होती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कोहली शानदार खिलाड़ी है। हम उसके सामने चुप रहे लेकिन उसने फिर भी रन बनाये लेकिन बहुत ज्यादा नहीं।’’

मेरठ। भारत की पूर्व दिग्गज धाविका और उड़नपरी के नाम से मशहूर पीटी उषा ने गुरुवार को यहां कहा कि भारत में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है और बस इसे खोजकर निखारने की जरूरत है। यहां के एक स्कूल में नारी सशक्तिकरण विषय पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंची पीटी उषा ने कहा, ‘‘हमें गावों में पहुंचकर प्रतिभा को तलाश कर उसे निखारने की जरूरत है। देश मे प्रतिभा की कमी नहीं है।

बस हमें छोटी उम्र में खिलाड़ियों को साथ जोड़कर धैर्यपूर्वक उनकी ट्रेनिंग पर ध्यान देना होगा। थोड़ा समय लगेगा पर नतीजा जरूर आएगा।’’पीटी उषा ने राज्य के एथलेटिक्स महासंघ की अच्छे काम के लिए तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘‘यहां एथलेटिक महासंघ बेहतर कर रहा है। मैं स्वयं भी मुख्यमंत्री से मिलकर खेल सुविधाओं को बढ़ाने की मांग करूंगी।’’उन्होंने कहा, ‘‘मैंने विदेश जाकर सिंथेटिक ट्रैक देखा था लेकिन अब खिलाड़ियों को देश में ही सुविधाएं मिलने लगी हैं।’’

अंडर 20 विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली धाविका हिमा दास की तारीफ करते हुए इस दिग्गज धाविका ने कहा, ‘‘हिमा दास ने विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण जीता है जो बड़ी उपलब्धि है। दुती चंद ने एशियाई खेलों में रजत पदक जीता है। उत्तर प्रदेश की सुधा सिंह का प्रदर्शन अच्छा है। ये सभी खिलाड़ी ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं।’’ पीटी उषा ने बच्चों से अपील की कि वह मोबाइल फोन छोड़कर मैदान में अधिक समय बिताएं। 

लगातार लचर प्रदर्शन के कारण दबाव झेल रहे महेंद्र सिंह धोनी आज कोई बड़ा निर्णय ले सकते हैं। भारत और वेस्टइंडीज के बीच पांचवा एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच इस साल का आखिरी एकदिवसीय मुकाबला है। इस मुकाबले के बाद अगला एकदिवसीय 2019 में होगा। धोनी को वेस्टइंडीज और आस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 श्रृंखलाओं के लिये भारतीय टीम में नहीं चुना गया है। धोनी पिछले कुछ समय से वनडे में बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे हैं। इसी को देखते हुए कहा जा रहा है कि शायद धोनी इस बीच में अपने क्रिकेट से सन्यास लेने की घोषणा कर दें। 

यह भी कहा जा रहा है कि पूर्व कप्तान के लिये अगले साल इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप तक राह उतनी आसान नहीं होगी। राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने उन्हें सीमित ओवरों के दो में से एक प्रारूप में बाहर करके पहले संकेत दे दिये हैं। धोनी ने 2018 में सात टी20 मैच खेले और उनकी सर्वश्रेष्ठ पारी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 28 गेंद में नाबाद 52 रन की रही। बाकी छह पारियों में उन्होंने 51 गेंद में 71 रन बनाये। इंग्लैंड में विश्व कप में धोनी विकेटकीपर के तौर पर पहली पसंद होंगे लेकिन पर वेस्टइंडीज के खिलाफ मौजूदा श्रृंखला में भी उनका अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा। 
 
बीसीसीाई धोनी के  चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद विकेटकीपर के रूप में दूसरे विकल्प पर बात कर चुके हें और ऋषभ पंत पर टीम प्रबंधन ने भरोसा जताया है। अब सवाल यह है कि बाकी तीन मैचों में धोनी का बल्ला नहीं चल पाता है तो क्या होगा। 
मुंबई। अंबाती रायुडु ने नंबर चार पर बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज के खिलाफ सोमवार को यहां शतक जमाया जिसके बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने उनकी जमकर तारीफ करते हुए उन्हें ‘बुद्धिमान बल्लेबाज’ करार दिया। भारत ने चौथे वनडे में वेस्टइंडीज को 224 रन से हराकर रनों के लिहाज से अपनी तीसरी बड़ी जीत दर्ज की। इस मैच में रोहित और रायुडु ने शतक जड़े।कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘‘रायुडु ने मौके का पूरा फायदा उठाया। हमें 2019 विश्व कप तक उसका समर्थन करने की जरूरत है। वह खेल को अच्छी तरह से समझता है, इसलिए हमें खुशी है कि कोई बुद्धिमान बल्लेबाज नंबर चार पर बल्लेबाजी कर रहा है।’’ पुणे में हार के बाद भारत ने निर्मम रवैया अपनाया और हर विभाग में शानदार प्रदर्शन करके पांच मैचों की श्रृंखला में 2-1 से बढ़त बनायी। 
 
गेंदबाजों की भी जमकर की तारीफ
कोहली ने कहा, ‘‘हां, हमने सभी विभागों में अच्छा प्रदर्शन किया। हमें वापसी करने के लिये जाना जाता है और यह एक और उदाहरण है। खलील (अहमद) ने सही क्षेत्रों में गेंद पिच करायी जिससे गेंद ने अपना कमाल दिखाया। उसने दोनों तरफ गेंद स्विंग करायी।’’ खलील ने 13 रन देकर तीन विकेट लिये जबकि चाइनामैन स्पिनर कुलदीप यादव ने 42 रन देकर तीन विकेट हासिल किये जिससे भारत ने वेस्टइंडीज को 36.2 ओवर में 153 रन पर समेट दिया। 
 
मैन आफ द मैच बने रोहित
पनी 162 रन की पारी के लिये मैन आफ द मैच बने रोहित ने कहा, ‘‘शुरू से ही हमने अच्छा प्रदर्शन किया। शुरू में दो विकेट गंवाने के बाद हमें बड़ी साझेदारी की जरूरत थी और उस भागीदारी (रोहित और रायुडु के बीच) ने मैच का नक्शा बदल दिया। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘एक बार जब आप जम जाते हो तो फिर आप उसका फायदा उठाना चाहते हो तथा मैंने और रायुडु ने यही किया। हम लंबी भागीदारी निभाना चाहते थे। ’’ 
रोहित ने तीन कैच भी लिये और इस तरह से आलराउंड खेल दिखाया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं पिछले कुछ समय से स्लिप में कैच लेने का अभ्यास कर रहा हूं। मैं यहां विराट की हंसी सुन सकता हूं।’’ रोहित ने कहा, ‘‘विशेषकर जब आप कुलदीप के सामने स्लिप में क्षेत्ररक्षण कर रहे होते हो तो उसकी गेंदों को समझना आसान नहीं होता है। जब आप नेट्स पर उसका सामना करते हो तो उससे यह समझना आसान हो जाता है कि वह कब गुगली करने वाला है और मैं उसके लिये तैयार हो जाता हूं।’’ 
+-
 
जैसन होल्डर ने क्या कहा
वेस्टइंडीज के कप्तान जैसन होल्डर ने कहा कि उनकी टीम ने निराशाजनक प्रदर्शन किया। होल्डर ने कहा, ‘‘हम अच्छा खेल नहीं दिखा पाये। हमने उन्हें बड़ा स्कोर खड़ा करने की छूट दी। हम बल्लेबाजी में किसी भी समय अच्छी स्थिति में नहीं दिखे। शुरू में विकेट गंवाने से हम लय हासिल नहीं कर पाये।’’ रोहित के तीन कैच के अलावा भारतीयों ने दो रन आउट भी किये। होल्डर ने कहा, ‘‘आप वनडे या सीमित ओवरों की क्रिकेट में कतई नहीं चाहते कि आपका कोई बल्लेबाज रन आउट हो। हमारे दो अच्छे बल्लेबाज रन आउट हो गये जिससे हम बैकफुट पर चले गये। ’’