Yashwant Sahu

Yashwant Sahu

अक्षर फाउंडेशन और द विस्तार फाउंडेशन के सामूहिक सहयोग से #COVID_19_Relief_Care कार्यक्रम चलाया जा रहा है | इस कार्यक्रम की शुरुवात राजधानी रायपुर से की गईं थी | रायपुर क्षेत्र के विभिन्न स्थानों बस्तियों, कॉलोनियों में जाकर खाद्य समाग्री, मास्क और सैनीटाइजर वितरित किया गया | इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए आज दुर्ग जिला के पाटन तहसील के मोतीपुर ग्राम में ग्रामीण वासियों को 2000 पैकेट खाद्य समाग्री, मास्क, सैनीटाइजर वितरित किया गया ! कार्यक्रम के दौरान ग्राम के सभी दुकानों तथा यहाँ से गुज़र रहे सभी राहगीरों को भी इस पैकेट का वितरण किया गया | संस्था द्वारा ग्राम की सरपंच महोदया योगिता साहू को भी 1000 पैकेट खाद्य समाग्री सहयोग स्वरुप सौंपा गया जिसे वे अपनी देख-रेख में ज़रूरतमंद लोगो तक पँहुचा सके | ग्राम की सरपंच योगिता साहू ने दोनों संस्था के द्वारा चलाए जा रहे इस मुहिम की सराहना की तथा संस्था द्वारा प्रदत खाद्य समाग्री, मास्क और सैनीटाइजर के लिए अपने और समस्त ग्राम वासियों की तरफ से धन्यवाद दिया | अक्षर फाउंडेशन के सदस्य अंकुर ठाकुर और द विस्तार फाउंडेशन के अध्यक्ष हर्ष येउलकर ने अधिक से अधिक लोगो को इस मुहीम से जुड़ने की अपील की है | कार्यक्रम में प्रमुख रूप से अंकुर ठाकुर, गजेंद्र साहू, विवांश झा, हर्ष येउलकर, आलोक सिंह, मयंक सिंह, अनिकेत गोंड़, गौरव शर्मा, कृष्णा गोयल शामिल रहे |

महासमुंद। जिले में पुलिस लगातार अपने प्रयासों से सफलता हासिल कर रही है, शनिवार को मुखबिर की सूचना पर 505 पेटी शराब जब्त किया है, जिसकी क़ीमत 55 लाख रूपये से जयादा आकी जा रही है। आरोपी पशुआहार की बोरियों के अंदर भरकर शराब का अवैध शराब का परिवहन कर रहे थे। मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। सायबर सेल की टीम को राजस्थान पासिंग एक ट्रक क्रमांक RJ 27 GB 2317 महासमुंद जिले में प्रवेश करते दिखाई दिया। टीम ने पीछा कर ट्रक को रोककर चेक किया। ट्रक के आगे पीछे सफेद बोरी में चुन्नी खल्ली एवं बीच में कार्टून भरा दिखा मिला, जिसमें 399 पेटी मसाला, 50 पेटी देशी प्लेन, 47 पेटी लंदन प्राइड, 08 पेटी ऑफिसर च्वाइस कुल 505 पेटी अंग्रेजी/देशी अवैध शराब मध्य प्रदेश निर्मित शराब कीमत ५५ लाख रुपए मिला। शराब को मध्य प्रदेश से महासमुंद जिले के बसना, सरायपाली क्षेत्र में खपाने के लिए लाया गया था

भाजपा किसान मोर्चा ने आज राज्य की भूपेश सरकार के रकबा कम करने के आदेश का जमकर विरोध करते एकात्म परिसर मे सरकार के आदेश की प्रतिया जलाई। गौरतलब है कि बेमेतरा जिला के कलेक्टर ने सभी तहसीलदार पटवारी एवं राजस्व विभाग को ये आदेश जारी किया गया है कि गिरदावरी के दौरान किसानों के खेत की पंप हाउस, खेतों की मेड, तथा खेतों मे पानी आवाजाही की नालियो को खेत के रकबा से अलग किया जाये। इस आदेश पर भाजपा किसान मोर्चा के पूर्व अध्यक्ष संदीप शर्मा ने कहाँ ये फैसला एक काला कानून है किसानों के खेतों का रकबा कम कर धान कम खरीदने की बडी साजिश है ये आदेश इस बात का प्रत्यक्ष प्रमाण है। दाना दाना धान खरीदने की बात कहने वालों का अब धान खरीदने मे हाथ पैर फूलने लगा किसान अपना कम धान बेच सके इसलिए तमाम प्रकार साजिश षड्यंत्र किया जा रहा है। भाजपा किसान मोर्चा पूरे मामले का जमकर विरोध करेगी और जब तक इस मामले को वापस नहीं लिया जाता भाजपा किसान मोर्चा सड़क से सदन तक लडाई जारी रखेगी। आज के प्रदर्शन मे गौरीशंकर श्रीवास प्रदेश मंत्री किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष किसान मोर्चा अजय साहू, जिला मंत्री नितिन शर्मा मंडल अध्यक्ष धनेस साहू चंदन राजपूत। जिलाध्यक्ष युवा मोर्चा राजेश पांडे , युवा मोर्चा मीडिया सह प्रभारी अनुराग अग्रवाल, युवा मोर्चा जिला मीडिया प्रभारी उमेश घोरमोडे, महामंत्री युवा मोर्चा अमित मैशरी, समेत सभी कार्यकर्ता शरीक हुए।

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने शनिवार देर शाम व रात कवर्धा शहर के वास्तविक स्थिति का जायजा लेने के लिए शहर के विभिन्न कंटेन्टमेंट जोन क्षेत्रों का भ्रमण किया। उन्होने शहर के प्रमुख मार्गों का जायजा लेने के बाद कवर्धा के सटे पिकनिट स्पाॅट सरोदा बाध तक निरीक्षण किया। कलेक्टर शर्मा ने कहा कि कोविड-19 कोरोना वायरस के रोकथाम और नियंत्रण के लिए राज्य शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा अनेक प्रयास किए जा रहे है। जिले में जिस तेज गति से कोरोना के संक्रमण का प्रभाव देने के मिला रहा है वह बहुत ही चिंतनीय है, पर इसके संक्रमण को रोकने और रोकथाम के लिए शहर को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। कोरोना के संक्रमण के रोकने के लिए शहर के सभी छोटे-व्यापारी वर्ग का जिला प्रशासन का सहयोग मिल रहा है। यह बहुत ही अच्छी बात है।शहर के सभी छोटे-बड़े व्यापारी अपने घाटे को सहन करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण को हराने में शासन-प्रशासन के साथ खड़े है। लेकिन ठीक इसके विपरित शहर के आमजनों का उतना अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा रहा है, जितना की इस संक्रमण के चैन को तोड़ने अथवा रोकने के लिए आवश्यक है। महज एक सप्ताह आमजन अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकले में, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और अपने घर के सामने, चौक चौराहों में समुह के रूप में नहीं बैठने के लिए जिला प्रशासन का सहयोग कर देते है तो कोरोना के संक्रमण को रोकने में सफल हो सकते है। कलेक्टर शर्मा ने जिले अथवा शहर वासियों से अपील करते हुए कहा कि शासन-प्रशासन कोरोना के संक्रमण और उनके रोकथाम के लिए लिए सभी आवश्यक उपाय किए जा रहे है, लेकिन यह शासन-प्रशासन का प्रयास और उपाय तभी सफल होगा, जब शहर के आमजन इस उपाय का अपनाएंगे। कलेक्टर शर्मा ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमणक रोकने के लिए उनके चैन को पहने तोड़ना होगा। कलेक्टर शर्मा ने कहा कि अगर हम पूरी ईमानदारी से कन्टेंटमेंट जोन क्षेत्र से अथवा अपने घरों से अनावश्यक बाहर निकलने से बचेंगे तो हम बहुत जल्द ही इस वायरस के संक्रमण को रोक सकते है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि कोरोना महामारी के चलते किसी भी छात्र की पढ़ाई में कोई व्यवधान नही होना चाहिए। स्कूल शिक्षा विभाग ने इस संबंध में सभी जिला कलेक्टरों और जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी करते हुए कहा है कि -समाचार वेबसाइटों में कुछ ऐसे समाचार आ रहे है कि अनेक विद्यार्थी महामारी के समय विभिन्न कारणों से निजी स्कूलों को छोड़ रहे है। संचालक लोक शिक्षण संचालनालय ने सभी जिला कलेक्टरों और जिला शिक्षा अधिकारियों से कहा है कि इस बात का प्रयास करना आवश्यक है कि किसी भी विद्यार्थी की शिक्षा में व्यवधान न हो। इसके लिए प्रत्येक निजी स्कूल से ऐसे विद्यार्थियों की सूची प्राप्त की जाए, जो पिछले वर्ष तक उस निजी स्कूल में पढ़ रहे थे परन्तु किसी भी कारण से उन्होंने इस वर्ष उस निजी स्कूल में प्रवेश नहीं लिया है या फिर प्रवेश लेने के बाद उस निजी स्कूल को छोड़ दिया है। सूची में विद्यार्थियों के नाम के साथ उनके पालकों के नाम, पते और संभव हो तो मोबाइल नम्बर भी प्राप्त किए जाएं। इन विद्यार्थियों के पालकों के साथ सम्पर्क करके उन्हें पास के सरकारी स्कूल में प्रवेश लेने के लिए प्रेरित किया जाए। कक्षा पहली से 10वीं तक के लिए इन बच्चों से प्रवेश के समय टी.सी. अथवा पूर्व कक्षा की अंक सूची की मांग न की जाए और उन्हें आयु के अनुरूप कक्षा में प्रवेश दिया जाए। इसी तरह कक्षा 11वीं में प्रवेश के लिए बच्चों से रोल नम्बर लेकर कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में उन्हें प्राप्त अंकों का सत्यापन संबंधित बोर्ड की वेबसाइट से कर लिया जाए। कक्षा 12वीं में प्रवेश देने के लिए भी बच्चों से बोर्ड परीक्षा का रोल नम्बर लेकर कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में उन्हें प्राप्त अंकों का सत्यापन संबंधित बोर्ड की वेबसाइट से कर लिया जाए और यह देख लिया जाए कि उन्होंने एक वर्ष पूर्व कक्षा 10वीं बोर्ड की परीक्षा पास की हो। कक्षा 11वीं एवं 12वीं में प्रवेश हेतु टी.सी. की मांग न की जाए। इस कार्यवाही को आगामी 15 दिनों में पूरा कर संचालनालय को अवगत कराने को कहा गया है।

देश में कोरोना ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है,लेकिन शनिवार इसमें कमी आई। हालांकि, आंकड़ा 90 हजार के पार ही है। मगर, अच्छी बात यह है कि बीमारी से ठीक होने वाले लोगों की संख्या में इजाफा हुआ है। कोरोना से रिकवरी के मामले में भारत ने अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है। बीते 24 घंटे में देश में 95,880 लोग संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं।  बीते 24 घंटे में 95,880 लोग संक्रमण से हुए मुक्त केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह अद्यतन किए गए आंकड़े के अनुसार, पिछले 24 घंटे में 1,247 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 85,619 गई है।देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 53,08,015 हो गए हैं, जिनमें से 10,13,964 लोगों का उपचार चल रहा है और 42,08,432 लोग उपचार के बाद इस बीमारी से उबर चुके हैं। इस मामले में भारत ने अमेरिका को पछाड़ दिया है। शनिवार को देशभर में 95,880 लोगों को विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दी गई। संक्रमण के कुल मामलों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। स्वस्थ होने की दर बढ़कर 79.28 फीसदी हुई स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 79.28 फीसदी हो गई है जबकि मृत्यु दर में गिरावट आई है और यह 1.61 फीसदी है। वहीं, 19.10 फीसदी मरीजों का अभी इलाज चल रहा है। देश में कोरोना मृत्यु दर वैश्विक औसत से भी कम है। पिछले 24 घंटे में आठ लाख से ज्यादा नमूनों की जांच भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक, देशभर में 18 सितंबर तक कुल 6,24,54,254 नमूनों की जांच की गई, जिनमें से  शुक्रवार को एक दिन में 8,81,911नमूनों की जांच की गई। हालांकि, जांच की संख्या पिछले दिनों की तुलना में काफी कम हैं, लेकिन संक्रमित मरीजों की संख्या में ज्यादा कमी नहीं देखने को मिली। रिकवरी के मामले में भारत ने अमेरिका को पछाड़ा बता दें कि वर्लोमीटर्स के आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिका में कुल संक्रमितों की संख्या 6,925,941 है, जिनमें 203,171 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 4,191,894 लोग स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। वहीं, भारत में संक्रमितों की संख्या 5,312,537 हो गई है, जिनमें 85,650 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 4,208,431 लोग ठीक हो चुके हैं। 

छत्तीसगढ़ में कोरोना का मामला

रायपुर प्रदेश में कोरोना मरीज 84 हजार पार हो गए हैं। बीती रात मिले 2617 नए पॉजिटिव के साथ इनकी संख्या बढक़र 84 हजार 234 हो गई है। इसमें से 664 मरीजों की मौत हो चुकी है। 37 हजार 489 एक्टिव हैं और इनका एम्स समेत अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। 36 हजार 420 मरीज ठीक होकर अपने घर लौट गए हैं। सैंपलों की जांच जारी है। राजधानी रायपुर समेत प्रदेश में कोरोना मरीज तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। बुलेटिन के मुताबिक बीती रात 10.15 बजे 2617 नए पॉजिटिव सामने आए। इसमें रायपुर जिले से सबसे अधिक 780 मरीज रहे। दुर्ग जिले से 323, राजनांदगांव से 196, महासमुंद से 184, धमतरी व रायगढ़ से 116-116, सुकमा से 110, दंतेवाड़ा से 106, बालोद से 98, बिलासपुर से 97, सरगुजा से 72, मुंगेली से 60, जांजगीर-चांपा से 57, गरियाबंद से 53, कोरबा से 37, बस्तर से 36, नारायण्पुर से 33, सूरजपुर से 31, बलरामपुर से 30, बलौदाबाजार से 25, बेमेतरा से 21, कोरिया से 17, कबीरधाम से 15, अन्य राज्य से 4 मरीज शामिल हैं। ये सभी मरीज आसपास के अस्पतालों में भर्ती कराए जा रहे हैं। दूसरी तरफ, कल 19 मरीजों की मौत हो गई। इसमें 6 लोगों की मौत सिर्फ कोरोना से हुई है। बाकी 13 की मौत अन्य गंभीर बीमारियों के साथ कोरोना से हुई है। इनके संपर्क में आने वालों की जांच-पहचान चल रही है। 1176 मरीज ठीक होने पर डिस्चार्ज किए गए। बाकी मरीजों का अलग-अलग अस्पतालों में इलाज जारी है। स्वास्थ्य अफसरों का कहना है कि प्रदेश में कोरोना जांच 9 लाख से अधिक हो चुकी है। आगे और भी सैंपलों की तेजी से जांच की जा रही है। दूसरी तरफ लापरवाही के चलते कुछ मरीज अब दम तोडऩे भी लगे हैं। ऐसे में नियमों का पालन बहुत ही जरूरी है।

राजधानी रायपुर में डायल 112 में तैनात आरक्षक के साथ मारपीट का मामला प्रकाश में आया है। मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायलय में पेश करने के बाद जेल भेजा जाएगा। मामला गुढ़ियारी थाना क्षेत्र का है जहां इवेंट मिलने की सूचना पर डायल 112 में तैनात आरक्षक खूबलाल साहू सुबह करीब 8:40 को शुक्रवारी बाजार पहुंचे। वहां जागेश्वर साहू नामक शख्स गाली गलौच कर रहा था। आरक्षक खूबलाल ने उसे ऐसा करने से मना किया तो शख्स उल्टा उन्हीं से विवाद करने लगा। इसके बाद खूबलाल ने तत्काल थाना पेट्रोलिंग को इसकी सूचना दी। सूचना के बाद पेट्रोलिंग आरक्षक गौरीशंकर साहू भी घटनास्थल पर पहुंचे। खूबलाल ने बताया कि जागेश्वर साहू ने सब्जी काटने का चाकू व पंच रखा था जिसे लेने का प्रयास किया गया तो उसने आरक्षक से अश्लील गाली गलौच करते हुए छीना झपटी शुरू कर दी। उसने आरक्षक खूबलाल के हाथ में कोहनी के पास दांत से काट दिया और थाना पेट्रोलिंग आरक्षक गौरीशंकर के चेहरे को भी नुकसान पहुंचाया. आरोपी ने आरक्षकों के साथ हाथापाई भी की। इसमें हरीश साहू नामक व्यक्ति ने भी उसका साथ दिया। गुढ़ियारी थाना प्रभारी रविशंकर तिवारी ने बताया कि आरोपी ने आरक्षक की वर्दी भी फाड़ी है जिसके बाद अब आरक्षक खूबलाल की शिकायत पर जागेश्वर व हरीश साहू के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालते हुए मारपीट करने के अपराध में मामला दर्ज किया गया। मामला दर्ज होने के कुछ देर बाद ही दोनों आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा। फिलहाल पुलिस आगे की कार्यवाही में जुटी हुई है।

गुना।इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है घटना मध्य प्रदेश के गुना जिले में अपराध का मामला दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. पिछले कुछ दिनों में ही जिले में हत्या, चोरी, लूट, डकैती सहित अन्य अपराधों में तेजी आई है. गुना से एक ऐसा मामला सामने आया है जहां दो सगे भाइयों ने एक महिला को अपनी हवस का शिकार बना कर उसकी गर्दन काट कर हत्या कर दी. इस वारदात से महिला के परिजनों में दुख के साथ-साथ खासा आक्रोश भी है. महिला पक्ष के लोगों ने हनुमान चौराहे पर सड़क के बीच में मृतिका की लाश को रखकर एक घंटे तक चक्का जाम लगाए रखा. बजरंगगढ़ थाना प्रभारी नरेंद्र गोयल ने जानकारी देते हुए बताया कि ग्राम बरखेड़ा गिर्द में गुड्डी बाई पत्नी जगराम की गर्दन काट कर हत्या कर दी गई. मृतिक की गर्दन घटनास्थल से 20 फीट दूर मिली है. इस मामले में एक चश्मदीद के आधार पर उसी गांव के दो सगे भाई राजकुमार और देवेंद्र पुत्र रघुवीर महिला के साथ खेत की झोपड़ी में गैंगरेप करने के बाद धारदार हथियार से हत्या की वारदात को अंजाम दिया है.

पश्चिम बंगाल आसनसोल में मोम से मूर्तियां बनाने वाले एक अनुभवी कलाकार ने सुशांत सिंह राजपूत को श्रद्धांजलि देने के लिए उनकी मोम की आदम-कद प्रतिमा बनाई है। मोम के पुतले बनाने वाले पश्चिम बंगाल राज्य के पहले कलाकार सुशांतो रॉय (64) ने राजपूत की प्रतिमा बनाई है जो हूबहू अभिनेता की तरह नजर आती है। बता दें एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत ने तीन महीने पहले 14 जून को इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। वह मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट में सुशांत 14 जून को संदिग्ध अवस्था में मृत पाए गए थे। अब तक उनके चाहने वाले उन्हें भूल नहीं पाए हैं। सुकांतों द्वारा सुशांत सिंह राजपूत का स्टैच्यू की तस्वीरें और वीडियोज वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर जमकर रिएक्‍शन दे रहे हैं। सुशांत के स्टैच्यू को देख दिवंगत एक्‍टर के फैंस भावुक होकर स्‍टैच्‍यू बनाने वाले कलाकार की सराहना कर रहे हैं। सुशांत की तरह हूबहू दिखने वाली ये प्रतिमा देख सबको लग रहा मानो साक्षात सुशांत खड़े हो। पश्चिम बर्धवान जिले में अपने स्टूडियो में अभिनेता की मूर्ति को पूरा करने में रॉय को डेढ़ महीने का समय लगा। इस दिग्गज कलाकार ने इससे पहले 2001 से लेकर अब तक महानायक अमिताभ बच्चन, फुटबॉल खिलाड़ी डिएगो माराडोना और मार्क्सवादी नेता ज्योति बसु की मोम की प्रतिमाएं बनायीं हैं। उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की मोम की मूर्ति बनायी है जिसे राष्ट्रपति भवन में स्थान दिया गया है।

नई दिल्ली: Iआईपीएल का आज दूसरा मुकाबला होगा आज दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मुकाबला दुबई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में होगा. मैच भारतीय समयानुसार शाम 7.30 बजे शुरू होगा. अब तक दोनों टीमों के बीच 24 मुकाबले हो चुके हैं, जिनमें से किंग्स इलेवन पंजाब ने 14 मैच जीते हैं, जबकि दिल्ली ने 10 में बाजी मारी. पिछले पांच मुकाबलों की बात करें, तो पंजाब की टीम ने चार मैच जीते है. दोनों टीमों के बीच आखिरी मैच में दिल्ली की टीम भारी पड़ी थी.दोनों टीमों का यह सत्र का पहला मुकाबला होगा, जहां उनके कप्तानों के बीच भी शानदार मुकाबला देखने को मिल सकती है. किंग्स इलेवन के कप्तान केएल राहुल और दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर को भविष्य के भारतीय कप्तान के तौर पर देखा जा रहा है. यही नहीं, दोनों टीमों के कोच विश्व स्तरीय खिलाड़ी रहे है और ऐसे में उनकी रणनीति को देखना दिलचस्प होगा. एक तरफ कुंबले तो दूसरी ओर पोंटिंग किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाड़ी अनिल कुंबले से प्रेरणा लेना चाहेंगे तो वही दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ी रिकी पोंटिंग की योजनाओं को मैदान पर उतारने में कोई कसर नहीं छोड़ेगे. दोनों टीमों में बड़े शॉट लगाने वाले खिलाड़ियों को कमी नहीं है, लेकिन यूएई की धीमी पिचों पर अश्विन, मिश्रा और अक्षर की तिकड़ी पंजाब की टीम पर भारी पड़ सकती है. बल्लेबाजी के मोर्चे पर दिल्ली कैपिटल्स में भारतीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण है. जिसमें पृथ्वी शॉ, अय्यर, ऋषभ पंत, शिखर धवन के अलावा वेस्टइंडीज के शिमरॉन हेटमेयर शामिल हैं. इस परिदृश्य में भारतीय टेस्ट उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे (120 से कम की स्ट्राइक रेट) को शायद मौका नहीं मिले. टीम ने उन्हें राजथान रॉयल्स से खरीदा गया था. किंग्स के पास मैक्सवेल-गेल जैसे धुरंधर किंग्स इलेवन के पास क्रिस गेल, ग्लेन मैक्सवेल और खुद राहुल जैसे बड़े शॉट लगाने वाले खिलाड़ी हैं. इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे वनडे में 108 रनों की पारी खेल कर टीम को जीत दिलाने वाले मैक्सवेल का आत्मविश्वास काफी ऊंचा होगा. उन्होंने 2014 में जब इस टूर्नामेंट के कुछ मैच यूएई में खेले गए थे तब शानदार प्रदर्शन किया था. मैक्सवेल ने उस सत्र में 16 मैचों में 552 रन बनाए थे. किंग्स इलेवन के पास गेल और राहुल के रूप में खतरनाक सलामी जोड़ी है, जिसके बाद मयंक अग्रवाल का नंबर आता है. दिल्ली के आक्रमण की धार रबाडा दिल्ली कैपिटल्स की टीम कैगिसो रबाडा के साथ बिग बैश लीग में सबसे अधिक विकेट लेने वाले डैनियल सैम्स को अंतिम 11 में शामिल कर सकती है, जिससे ईशांत शर्मा को बाहर बैठना पड़ सकता है. किंग्स इलेवन पंजाब के लिए मोहम्मद शमी तेज गेंदबाजी आक्रमण की अगुवाई करेंगे, जबकि स्पिन विभाग की जिम्मेदारी अफगानिस्तान के मुजीब जदरान पर होगी. अश्विन पिछले सत्र में हुए ‘मांकड़िंग’ विवाद को पीछे छोड़कार मिश्रा के साथ शानदार जोड़ी बनाना चाहेंगे. मिश्रा के नाम आईपीएल में 157 विकेट हैं और वह सबसे अधिक विकेट चटकाने वालों की सूची में दूसरे स्थान पर है. टीमें इस प्रकार हैं – दिल्ली कैपिटल्स: श्रेयस अय्यर (कप्तान), रविचंद्रन अश्विन, शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, शिमरॉन हेटमेयर, कैगिसो रबाडा, अजिंक्य रहाणे, अमित मिश्रा, ऋषभ पंत (विकेटकीपर),अवेश खान, तुषार देशपांडे, हर्षल पटेल, मार्कस स्टोइनिस, ललित यादव ईशांत शर्मा, अक्षर पटेल, संदीप लामिछाने, कीमो पॉल, डैनियल सैम्स, मोहित शर्मा, एनरिक नोर्तजे, एलेक्स कैरी (विकेटकीपर), किंग्स इलेवन पंजाब: केएल राहुल (कप्तान), मयंक अग्रवाल, शेल्डन कॉटरेल, क्रिस गेल, अर्शदीप सिंह, मुरुगन अश्विन, कृष्णप्पा गौतम, हरप्रीत बरार, दीपक हुड्डा, क्रिस जॉर्डन, सरफराज खान,ग्लेन मैक्सवेल, मोहम्मद शमी, मुजीब उर रहमान, करुण नायर, जेम्स नीशाम, निकोलस पानन (विकेटकीपर), ईशान पोरेल, मनदीप सिंह, दर्शन नलकंडे, रवि बिश्नोई, सिमरन सिंह (विकेटकीपर), जगदीश सुचित, तजिंदर सिंह, हार्डस विलजोन.

Page 1 of 31

Magazine

The Edition Today Magazine (July - 2020)