Admin

Admin

राजस्व पुनर्वास और आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में आज आम जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओं की समस्याओं को सुन कर उनका त्वरित निराकरण किया। मंत्री जयसिंह अग्रवाल तीसरी दफे कार्यकर्ताओ से मिलने राजीव भवन पहुंचे थे। कार्यकर्ताओ से मुलाकात के बाद उपस्थित पत्रकारों से चर्चा करते हुए मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने बताया कि यह सकारात्मक परिणाम है कि लोगो के आवेदनों की संख्या धीरे-धीरे कम हो रही है। पहले दिन की अपेक्षा दूसरी बार लगभग पच्चीस फीसदी कम आवेदन आये थे। तीसरी बार में इनकी संख्या में और कमी आयी है। उन्होंने कहा कि मैंने मैदानी अमले को कहा है आपके क्षेत्र हल्के की समस्या के आवेदन हमारे पास आ रहे है तो इसका सीधा अर्थ है आप अपने काम को सही ढंग से नही कर रहे। सभी अधिकारियों को स्थानीय स्तर पर लोगो की समस्याओं का निराकरण करना होगा। इसके लिए जबाबदेही तय की जाएगी। मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि बटांकन और सीमांकन की शिकायत आयी है। अधिकारियों को निर्देश दिये गए है। रायपुर में डायवर्सन के ज्यादा मामले आए हैं। उसके लिए नियम बना दिया गया है और अधिकारियों को निर्देशित भी कर दिया गया है। कुछ तहसीलदार, आर.आई. और पटवारी की शिकायत मिली है, उनके तबादले करने के लिए भी आवेदक आये है, उसको लेकर पत्र लिखा गया है। भुइयां की गड़बड़ी को सुधार लिया गया है। 6 तारीख को बस्तर संभाग की बैठक होगी। उद्योग की शिकायत पर कार्यवाही की जा रही है। विधानसभा में भी मामले आये थे, उनका निराकरण कर दिया गया है। शहर का रकबा बढ़ रहा है, सभी भविष्य का प्लान करते हैं, रकबा बढ़ना कोई बुराई नही है। वन भूमि का रकबा सुरक्षित है। संभागीय बैठकों में अधिकारियों को 2 महीने में प्रकरण निपटारा का समय दिया गया है, उसके बाद सख्ती होगी। लोगो की समस्या तेजी से हल हो रही है, इसलिए लोगो की भीड़ कम हो रही है। मैं जनदर्शन के लिए नही, लोगो की समस्या का समाधान के लिए राजीव भवन में बैठता हूं। अपने आवास में भी लोगो की शिकायत सुनता हूँ। बीजेपी का काम बोलना है। अगर जनता का काम किये होते तो 15 सीट पर नहीं पहुंचते। आने वाले समय में देखेंगे कि संभाग में सुनवाई के बाद लोगो को राहत मिलेगी।

छतरपुर/निवाड़ी। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन आज मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने छतरपुर और निवाड़ी से अपनी सभाओं का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने मध्यप्रदेश वासियों को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने पिछले कार्यकाल में सर्वश्रेष्ठ करने का प्रयास किया है। और अब समृद्ध मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए हम कटिबद्ध हैं। मैंने जो कुछ भी अपने प्राणों से प्यारी जनता से कहा है उसे मैं जरूर पूरा करूंगा, यह मेरा वादा है। मुख्यमंत्री द्वारा यह कहे जाते समय सभा पांडाल में उपस्थित हजारों लोग भावुक हो उठे और गगनभेदी नारों के साथ उन्होंने शिवराज सिंह  चौहान  के प्रति अपनी आस्था का प्रदर्शन किया। 

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेसियों को हमारी सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों पर जमकर गुस्सा आ रहा है। सत्ता से दूर रहने पर गुस्सा आ रहा है। वे अपने गुस्से का इजहार टीवी कलाकारों के माध्यम से टेलीविजन पर दिखा रहे हैं और सभाओं में भी उनका गुस्सा साफ झलक रहा है। वे फर्जी वीडियो जारी करके भी मुझ पर गुस्सा उतार रहे हैं, लेकिन उनके गुस्से से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। वे गुस्सा करते रहे, मैं तो विकास कार्य करता रहूंगा। यह बात मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान ने छतरपुर जिले की विधानसभा बड़ा मलहरा के घुवारा में पार्टी प्रत्याशी श्रीमती ललिता यादव और विधानसभा निवाड़ी में पार्टी प्रत्याशी अनिल जैन के समर्थन में आयोजित जनसभाओं को संबोधित करते हुए कही।

कांग्रेस बकवास करती है, हम वायदों को पूरा करते हैं

चौहान ने कहा है कि कांग्रेस ने कभी भी अपने वादे पूरे नहीं किए। उनके नेता बकवास करने में ज्यादा भरोसा रखते हैं, लेकिन भाजपा की सरकार ने जो भी वादा किया है, उसको हर हाल में पूरा किया है। उन्होंने कहा कि मैंने जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान यहां के लोगों से वादा करके गया था कि क्षेत्र को कॉलेज और अस्पताल दूंगा तो उस वादे को पूरा करके बताया भी है। अब वादा पूरा करने की बारी आप लोगों की है।

किसानों को मिलेगा सिंचाई के लिए पानी

CM शिवराज ने कहा कि किसान हमेशा से भाजपा सरकार की पहली प्राथमिकता रहा है। हमने पिछले 15 वर्षों में किसानों के हितों में कई योजनाएं चलाईं हैं, आगे भी काम होते रहेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के जमाने में किसानों को सिंचाई के लिए पानी नहीं मिलता था। खासकर बुंदेलखंड क्षेत्र की स्थिति तो बेहद दयनीय थी, लेकिन भाजपा की सरकार ने बुंदेलखंड के विकास में कोई कमी नहीं रखी और यहां पर किसानों के लिए कई सिंचाई परियोजनाओं का काम किया है। इससे यहां के क्षेत्रों की लाखों एकड़ जमीन पर सिंचाई हो सकेगी।

कांग्रेस को आ रहा गुस्सा

शिवराज सिंह ने कहा कि कांग्रेस की सरकार तो 54 वर्षों में कुछ कर नहीं पाई, लेकिन हमने 15 वर्षों में मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य से निकालकर विकसित राज्य बना दिया है तो इस पर उन्हें गुस्सा आ रहा है। उन्होंने कहा कि हम बेटियों को लाड़ली लक्ष्मी बना रहे हैं तो इस पर भी उन्हें गुस्सा आ रहा है, हम बुजुर्गों को तीर्थ दर्शन करा रहे हैं तो इस पर भी उन्हें गुस्सा आ रहा है, हम गरीबों को अंतिम संस्कार के लिए 5 हजार रूपए उपलब्ध करा रहे हैं, तो इस पर भी कांग्रेस के लोगों को गुस्सा आ रहा है। उन्होंने आगे कहा कि सबसे ज्यादा गुस्सा उन्हें 15 वर्षों से सत्ता से दूर रहने पर आ रहा है। इसके लिए वे रातभर करवटें बदलते रहते हैं कि ये कुर्सी हमें कब मिलेगी। उन्होंने कहा कि रातभर में भी नहीं सोता हूं, लेकिन मैं जनता की सेवा के लिए नहीं सोता हूं, और वे मेरे कारण रातभर जागते रहते हैं।

जिला बनाकर पूरा किया वचन

मुख्यमंत्री ने निवाड़ी की सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमने निवाड़ी को जिला बनाकर अपना वचन पूरा किया है। अब बारी यहां की जनता की है। जनता अपने वचन को पूरा करे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी इस बार वचन-पत्र लेकर आई है, लेकिन वे सिर्फ वचन देते हैं उनको पूरा करने का काम भाजपा की सरकार करती है। उन्होंने पंजाब, कर्नाटक में भी किसानों को कई वचन दिए थे, लेकिन उनके वचन आज तक पूरे नहीं हुए हैं। अब वे मध्यप्रदेश की जनता के लिए वचन पत्र लेकर आए हैं, लेकिन उनके वचनों को पूरा भाजपा की सरकार ही करेगी। मुख्यमंत्री की सभा के दौरान घुवारा में देवेंद्र यादव, सुरेंद्र राय, प्रवीण नापित, विश्वनाथ सिंह, सुनील मिश्रा, ताज मोहम्मद कादरी, निवाड़ी में अखिलेश अयासी, नंदकिशोर नापित, कमलेश्वर देवलिया सहित बड़ी संख्या में आमजन मौजूद रहे। 

नयी दिल्ली। आप के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि पिछले तीन सालों में उनके हर फैसले की केन्द्र सरकार द्वारा जांच कराने के बावजूद गड़बड़ी का एक भी तथ्य नहीं मिलना आप सरकार की ईमानदारी का सबसे बड़ा प्रमाण है, और उन्हें ईमानदारी का यह प्रमाणपत्र ‘‘मोदी जी’’ से मिला है। केजरीवाल ने सोमवार को आप के छठे स्थापना दिवस के अवसर पर पार्टी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये कहा ‘‘तीन साल में हमारी सरकार ने जितने भी निर्णय लिये थे, उनसे जुड़ी वे सभी 400 फाइलें मोदी जी ने, हमारे खिलाफ कोई भी गड़बड़ी निकालने के लिये मंगा लीं जिन पर मैंने दस्तखत किये थे। लेकिन कुछ भी नहीं निकला। मुझे ईमानदारी का सर्टिफिकेट प्रधानमंत्री मोदी जी से मिला है।’’

 
केजरीवाल ने दिल्ली सरकार की ईमानदारी का हवाला देते हुये कहा ‘‘आज दिल्ली की जनता कहती है कि हमारा मुख्यमंत्री ईमानदार है। मैं देश की जनता से पूछना चाहता हूं कि क्या आप दिल से कह सकते हो कि हमारा प्रधानमंत्री ईमानदार है।’’ इतना ही नहीं उन्होंने दिल्ली सरकार के साढे़ तीन साल के कामों को ऐतिहासिक करार देते हुये दावा किया कि गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए मोदी ने 12 साल में जितने काम किये थे उससे कहीं ज्यादा काम दिल्ली में आप सरकार ने साढ़े तीन साल में कर दिये। 
 
केजरीवाल ने कहा कि संविधान दिवस के दिन ही आप का गठन होना महज संयोग मात्र नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा ‘‘यह नियति का एक इशारा है कि आज देश में संविधान पर जो खतरा मंडरा रहा है उस खतरे से देश को निजात दिलाने में कोई और पार्टी सक्षम नहीं है, सिर्फ आप ही इस खतरे से निजात दिला सकती है।’’ मुख्यमंत्री ने पिछले छह साल में आप की उपलब्धियों को उल्लेखनीय बताते हुये कहा कि हर तरह की बाधाओं के बावजूद अपने कामों के बलबूते पार्टी भ्रष्टाचार और सांप्रदायिकता के खिलाफ राजनीतिक क्रांति बन कर उभरी है। 

 

 
 
केजरीवाल ने दिल्ली सरकार की ईमानदारी का हवाला देते हुये कहा ‘‘आज दिल्ली की जनता कहती है कि हमारा मुख्यमंत्री ईमानदार है। मैं देश की जनता से पूछना चाहता हूं कि क्या आप दिल से कह सकते हो कि हमारा प्रधानमंत्री ईमानदार है।’’ इतना ही नहीं उन्होंने दिल्ली सरकार के साढे़ तीन साल के कामों को ऐतिहासिक करार देते हुये दावा किया कि गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए मोदी ने 12 साल में जितने काम किये थे उससे कहीं ज्यादा काम दिल्ली में आप सरकार ने साढ़े तीन साल में कर दिये। 
 
केजरीवाल ने कहा कि संविधान दिवस के दिन ही आप का गठन होना महज संयोग मात्र नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा ‘‘यह नियति का एक इशारा है कि आज देश में संविधान पर जो खतरा मंडरा रहा है उस खतरे से देश को निजात दिलाने में कोई और पार्टी सक्षम नहीं है, सिर्फ आप ही इस खतरे से निजात दिला सकती है।’’ मुख्यमंत्री ने पिछले छह साल में आप की उपलब्धियों को उल्लेखनीय बताते हुये कहा कि हर तरह की बाधाओं के बावजूद अपने कामों के बलबूते पार्टी भ्रष्टाचार और सांप्रदायिकता के खिलाफ राजनीतिक क्रांति बन कर उभरी है। 

जयपुर। आदिवासियों के मुद्दे पर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि विपक्षी पार्टी ने कभी आदिवासियों की परवाह नहीं की और जिन्हें मूंग और चने में फर्क नहीं पता, वे किसान की बात कर रहे हैं। मोदी राजस्थान के आदिवासी बहुल डूंगरपुर जिले में बेणेश्वर धाम में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘आजादी के इतने सालों तक जब तक अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री नहीं बने तब तक कांग्रेस को कभी आदिवासियों की याद नहीं आई। आदिवासी मांग करते थे कि हमारे लिए अलग मंत्रालय हो, अलग मंत्री हो, अलग बजट हो, हमारे विकास के लिए योजनाएं बनें, लेकिन कांग्रेस पार्टी को तो आदिवासियों की कोई परवाह नहीं थी।

 

यह भी पढ़ें: एक और कांग्रेस नेता का विवादित बयान, मोदी के पिता के बारे में कोई नहीं जानता

प्रधानमंत्री बनने के बाद वाजपेयी ने अलग आदिवासी मंत्रालय बनाया, आदिवासी मंत्री बनाया और आदिवासियों के लिए अलग बजट बनाया। तब से लेकर आदिवासियों के विकास की गाथा शुरू हुई।’’ मोदी ने कहा, ‘‘हम इस देश के हर नागरिक को सशक्त बनाना चाहते हैं। हम देश के हर नागरिक को सामर्थ्यवान बनाना चाहते हैं। अपने आदिवासी भाइयों को शक्तिशाली बनाना चाहते हैं, इसलिए हमारा रास्ता साफ है। हमारा मंत्र है ‘बेटे बेटियों की पढाई, युवा को कमाई, किसानों को सिंचाई, बुजुर्गों को दवाई व जन जन की सुनवाई।’ 

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में 206 कोबरा बटालियन की टीम के साथ नक्सलियों की मुठभेड़ जारी है। जिसमें 7 से 8 नक्सली मारे गए। मुठभेड़ में डीआरजी के दो जवान शहीद हो गए हैं। साथ ही कई बंदूक और कुछ आईईडी बनाने का सामान बरामद हुआ है। इस खबर को आगे अपडेट किया जा रहा है।

 

पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने कहा, '2 डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड (डीआरजी) मुठभेड़ में शहीद हो गए जबकि 7-8 नक्सलियों को भी मार गिराया गया है। यह मुठभेड़ डीआरजी और एसटीएफ की नक्सलियों के साथ सुकमा जिले के सकलार गांव में हुई। अभी भी मुठभेड़ जारी है।'

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सुबह डीआरजी और पुलिस की एक टीम सर्च ऑपरेशन कर रही थी। इसी बीच पहले से घात लगाकर बैठे हुए नक्सलियों ने जवानों पर गोलियां चलानी शुरू कर दी। फायरिंग के बावजूद बिना घबराए जवानों ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए काउंटर अटैक किया। जिसमें 8 नक्सली मारे गए। गोली लगने से इस दौरान 2 डाआरजी जवान शहीद हो गए। 

राज्य में नक्सल विरोधी अभियान के विशेष पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने सोमवार को बताया कि सुकमा जिले के किस्टाराम थाना क्षेत्र के अंतर्गत तेलंगाना सीमा के करीब पुलिस दल ने नक्सल विरोधी अभियान ‘प्रहार चार’ के दौरान आठ नक्सलियों को मार गिराया। इस घटना में डीआरजी के दो जवान भी शहीद हो गये।

अवस्थी ने बताया कि छत्तीसगढ़ और तेलंगाना सीमा के करीब नक्सली गतिविधि की सूचना के बाद रविवार शाम को सीआरपीएफ, एसटीएफ और डीआरजी के संयुक्त दल को रवाना किया गया था। इस अभियान को ‘प्रहार चार’ का नाम दिया गया है। उन्होंने बताया कि दल जब किस्टाराम थाना क्षेत्र में था तब नक्सलियों ने पुलिस दल पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद पुलिस दल ने भी जवाबी कार्रवाई की।

राजस्थान में प्रचार पर निकले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर में विधि-विधान के साथ पूजा की। इस दौरान उन्होंने वहां मौजूद पंडित-पुजारियों को अपना गोत्र भी लिखवाया। राहुल ने कौल दत्तात्रेय गोत्र के नाम से पूजा की। 

 इन दिनों भाजपा और कांग्रेस के बीच जाति-धर्म को लेकर जबर्दस्त वाक-युद्ध छिड़ा हुआ है। कुछ दिन पहले सूबे में कांग्रेस के दिग्गज सीपी जोशी ने बयान दिया था,

"उमा भारती जी की जाति मालूम है किसी को? ऋतंभरा की जाति मालूम है? इस देश में धर्म के बारे में कोई जानता है तो पंडित जानते हैं।"

प्रधानमंत्री मोदी की जाति को लेकर भी सवाल उठाए गए। हालांकि, राहुल गांधी के निर्देश पर बाद में जोशी ने अपने बयान पर खेद जताया था। लेकिन बयानों की बिखरती लड़ी से साफ है कि पार्टी ब्राह्मणों को एक कड़ी में गूंथने की कोशिश कर रही है। 

राजस्थान में कांग्रेस ने कई ब्राह्मण चेहरों को आगे किया है। इनमें रघु शर्मा, डॉ. सीपी जोशी और गिरिजा व्यास जैसे बड़े चेहरे शामिल हैं। माना जाता है कि राजस्थान में 8 फीसदी ब्राह्मण मतदाता हैं। जाहिर है, इस बार सत्ता में वापसी का इंतजार कर रही कांग्रेस कोई कोर-कसर छोड़ना नहीं चाहती। 

जब संबित ने पूछा राहुल का गोत्र

पिछले महीने ही भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने इंदौर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था, "उज्जैन जा रहे राहुल गांधी जी से हम पूछना चाहते हैं कि आप जनेऊधारी हैं? आप कैसे जनेऊधारी हैं, क्या गोत्र है आपका?" 

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 के लिए चुनाव प्रचार अपने चरम पर है। प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को राजस्थान के रण में जहां भीलवाड़ा और बणेश्वर धाम में चुनावी सभा को संबोधित किया वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पोकरण और जालोर में जनसभा को संबोधित किया। राहुल गांधी ने जालौर में चुनावी सभा में प्रधानमंत्री मोदी और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। राहुल ने एक बार फिर कहा कि केंद्र सरकार को जनता विरोधी और पूंजीपतियों के हित में नीतियों को लागू कर रही है। राहुल गांधी ने कहा, "रेल का जो फायदा हमारे युवाओं को, माताओं-बहनों को मिलना चाहिए वो फायदा तो अडानी जी को मिलता है। इंडियन रेलवे का नाम बदलकर अडानी रेलवे कर देना चाहिए, दूसरी तरफ भारतीय वायुसेना को अंबानी वायुसेना कर देना चाहिए।" 

 राहुल ने कहा, "सीबीआई डायरेक्टर राफेल मामले की जांच करवाने जा रहे थे, लेकिन देश के चौकीदार ने रात के 2 बजे घबराते हुए सीबीआई डायरेक्टर को निकाल दिया।" 

मोदी अब भ्रष्टाचार की बात नहीं करते : राहुल

राहुल गांधी ने पोकरण की जनसभा में कहा, "पहले मोदी जी जहां भी जाते थे 2 करोड़ नौकरियां, किसानों को सही दाम और भ्रष्टाचार की बात करते थे। लेकिन अब उनके भाषण में न रोजगार, न किसानों को सही दाम, न ही भ्रष्टाचार की बात होती है।" 
 

पीएम ने आपके माता-पिता का अपमान किया : राहुल

राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी पर देश के लोगों के माता-पिता का अपमान करने का आरोप लगाया। राहुल ने कहा, "राजस्थान के युवाओं ने इस देश को यहां तक पहुंचाया है, लेकिन प्रधानमंत्री आपके माता-पिता का अपमान करते हैं, क्योंकि वो कहते हैं कि उनके आने से पहले हिंदुस्तान की जनता ने कुछ नहीं किया।" 

Page 1 of 15