राजनीति

राजनीति (73)

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को पार्टी के नए राज्य प्रभारियों और महासचिवों से कहा कि वे देश के लोकतंत्र के लिए संघर्ष करें, क्योंकि देश का लोकतंत्र बहुत ही 'कठिन समय' में है। नव-नियुक्त पार्टी पदाधिकारियों के साथ मुलाकात में, सोनिया गांधी ने कहा, "हर किसी को लोगों के मुद्दों के लिए संघर्ष करना चाहिए और उनकी तकलीफों को दूर करने की कोशिश करें, क्योंकि हमारा लोकतंत्र सबसे कठिन दौर से गुजर रहा है।"
 
उन्होंने राज्य के प्रभारियों से उन मुद्दों की पहचान करने के लिए कहा, जो लोगों से सीधे जुड़े हुए हैं और कहा कि इसके लिए सरकार से लड़ने की जरूरत पड़े, तो वो भी करें।
 
किसानों से जुड़े नए कानून और महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधों का जिक्र करते हुए सोनिया गांधी ने कहा, "लोगों के हितों की रक्षा करना ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का मूल उद्देश्य है।"
 
"आज भी, देश के नागरिकों के प्रति समर्पित भाव से सेवा और सभी क्षेत्रों में अन्याय, असमानता और भेदभाव के खिलाफ लड़ाई, प्रत्येक कांग्रेसी को दिशा दिखाने वाला प्रकाश है।"
 
सोनिया गांधी ने जोर देकर कहा कि यह जिम्मेदारी अब और भी महत्वपूर्ण हो गई है क्योंकि "हमारा लोकतंत्र अपने सबसे कठिन दौर से गुजर रहा है।"
 
उन्होंने कहा, "हमारे संविधान और हमारी लोकतांत्रिक परंपराओं पर लगातार हमला हो रहा है। हमारे देश की मौजूदा सरकार मुट्ठीभर पूंजीपतियों की मुनाफाखोरी के लिए हमारे नागरिकों के हितों की अनदेखी कर रही है।"
 
भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार पर आरोप लगाते हुए कि सोनिया गांधी ने कहा कि कृषि कानूनों को लागू करके सरकार ने देश की मजबूत कृषि अर्थव्यवस्था की नींव हिला दी है।
 
कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि वे किसानों के कृषि से जुड़े ये नए कानून 'काले कानून' हैं और ये किसानों की जीविका छीनने का प्रयास है।
 
उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सरकार के पास महामारी की समस्या का सामना करने के लिए कोई नीति नहीं है और सरकार की गलत नीतियों के कारण, अर्थव्यवस्था की हालत इतनी खराब है और बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है।
 
 
शेयर करे...

बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए (NDA) से अलग होकर चुनावी मैदान में कूदे लोक जनशक्ति पार्टी (Lok Janshakti Party) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा है कि वो पीएम मोदी के हनुमान हैं। चिराग पासवान ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मुझे मोदी की तस्वीर कहीं नहीं लगानी, वो मेरे दिल में बसते है। मैं उनका हनुमान हूं मेरा सीना चीर कर देख लें। मोदी के साथ था, हूं और रहूंगा।

चिराग पासवान का यह बयान बीजेपी नेताओं के बयान के बाद आया है। दरअसल बीजेपी के कई नेताओं ने कहा कि एलजेपी नेता चिराग पासवान चुनाव प्रचार में बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का नाम लेकर ‘भ्रम की राजनीति’ कर रहे हैं

इसका जवाब देते हुए चिराग पासवान ने कहा, "मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के साथ था, हूं और रहूंगा। तस्वीर को लेकर भी विवाद हुआ कि ये लोग कहीं पीएम की तस्वीर नहीं लगा सकते हैं। तो मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि मुझे कहीं तस्वीर नहीं लगानी है। प्रधानमंत्री मेरे दिल में बसते हैं। मैं उनका हनुमान हूं। हनुमान की तरह चीर कर देख लें मेरा सीना, मेरे दिल में प्रधानमंत्री मोदी बसते हैं।"

बीजेपी का चिराग पर निशाना
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, "चिराग पासवान ने बिहार में अपना अलग रास्ता चुना है और वो हमसे अलग होकर चुनाव लड़ रहे हैं। बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का नाम लेकर वह भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। यह झूठी बयानबाजी सफल नहीं होगी।" जावड़ेकर ने स्पष्ट किया कि बिहार चुनाव में बीजेपी की कोई ‘बी, सी या डी टीम’ नहीं है। उन्होंने कहा, "हमारी एक ही मजबूत टीम है और वह है..बीजेपी, जद(यू), हिन्दुस्तान अवाम मोर्चा (हम) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी)। चार दलों का हमारा गठबंधन राजग मजबूती से चुनाव लड़ रहा है। तीन चौथाई बहुमत से विजयी होगी और हम कांग्रेस, राजद और माले के अपवित्र गठबंधन को हराएंगे।"

शेयर करे...
भोपाल। मध्यप्रदेश सरकार के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने होमगार्ड सैनिकों को लेकर बड़ा एलान किया है। प्रदेश की महिला होमगार्ड सैनिकों को अब प्रसव के दौरान 90 दिन का वेतन सहित अवकाश दिया जाएगा। इसके अलावा नरोत्तम मिश्रा ने कहा है की होमगार्ड के वेल फेयर फंड को डेढ़ करोड़ से ज्यादा बढ़ाया जाएगा। साथ ही जल्द सेवा निवृत्ति वाले होमगार्ड की अनुग्रह राशि 40 वर्ष के बाद मिलती है, इस पर सरकार विचार कर अवधि कम करेगी। भोपाल में अंतर्राष्ट्रीय आपदा जोखिम न्यूनीकरण दिवस पर गृह मंत्री ने जिला सेनानी होमगार्ड, भोपाल के नवीन भवन और होमगार्ड मुख्यालय परिसर में नवनिर्मित बहुउद्देश्यीय हॉल का लोकार्पण भी किया गया। अंतर्राष्ट्रीय आपदा जोखिम न्यूनीकरण दिवस के अवसर पर प्रमुख रूप से राज्य आपदा प्रबंधन, भोपाल द्वारा राहत बचाव क्षमता का प्रदर्शन, होमगार्ड और एसडीईआरएफ के सैनिकों का राज्य-स्तरीय सैनिक सम्मेलन, सिविल डिफेंस वॉलेंटियर्स की कार्यशाला का भी आयोजन किया गया। 19 से 24 अक्टूबर तक मध्य प्रदेश के 12 जिलों में आपदा जोखिम न्यूनीकरण कार्यशालाओं का आयोजन किया जायेगा। इनमें होमगार्ड एवं एसडीईआरएफ के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही संबंधित जिलों के पुलिस अधीक्षक और कलेक्टर सम्मिलित होंगे। इस दौरान गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आपदा में काम करने वाले जवानों की जमकर तारीफ़ की। वंही पूर्व सीएम कमलनाथ द्वारा सीएम शिवराज को कलाकार बताये जाने पर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस का एक्टरों से हमेशा संबंध रहा है। वादों से छलांग लगाना कांग्रेस को आता है।
शेयर करे...
प्रदेश में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ते जा रहा है.वही मौत के आकड़ो में भी वृद्धि देखने को मिल रह रहा है,इसी कड़ी में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार संसदीय निर्वाचन, विधानसभा निर्वाचन व समय समय पर होने वाले उपनिर्वाचन में नियोजित अधिकारियों व कर्मचारियो की कोविड-19 के कारण मृत्यु होने की स्थिति में 30 लाख रुपए देने के प्रावधान हैं। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रीना बाबासाहेब कंगाले ने जानकारी दी है कि संसदीय निर्वाचन, विधानसभा निर्वाचन तथा समय समय पर होने वाले उपनिर्वाचनों में नियोजित अधिकारी व कर्मचारी की निर्वाचन कर्तव्य के दौरान कोविड-19 से मृत्यु होने पर उनके आश्रितों को छत्तीसगढ़ राज्य अनुग्रह प्रतिकर भुगतान राशि 30 लाख रुपये की राशि दी जाएगी।
शेयर करे...

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता खुशबू सुंदर (Khushboo Sundar) ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को इसे लेकर एक पत्र लिखा है। उन्होंने अपने पत्र में पार्टी के बड़े नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए हैं। खुशबू ने बड़े स्तर पर बैठे लोगों पर उन पर दबाव बनाने का आरोप लगाया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वो भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने वाली हैं। उन्होंने अपने पत्र में लिखा, 'पार्टी के अंदर कुछ तत्व उच्च स्तर पर बैठे हैं, जिनका जमीनी हकीकत या सार्वजनिक मान्यता से कोई जुड़ाव नहीं है, वो आदेश दे रहे हैं।' उन्होंने कहा कि मुझ जैसे लोग जो पार्टी के लिए काम करना चाहते हैं उनको दबाया जा रहा है। उन्होंने अपने पत्र में आगे कहा कि मैंने लंबे समय तक सोच विचार करने के बाद पार्टी छोड़ने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही उन्होंने पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाए जाने के लिए राहुल गांधी और अन्य नेताओं का धन्यवाद किया है। न्यूज एजेंसी एएनआइ के मुताबिक खुशबू सुंदर जल्द ही भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने वाली हैं। वहीं, तमिलनाडु कांग्रेस ने खुशबू सुंदर के इस फैसले को लेकर उन पर 'वैचारिक प्रतिबद्धता' की कमी का आरोप लगाया है। पार्टी ने कहा कि उनके इस फैसले से तमिलनाडु की राजनीति पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। खुशबू के भाजपा में शामिल होने की खबरों पर तमिलनाडु में एआइसीसी के प्रभारी दिनेश गुंडु राव ने कहा कि वह एक सप्ताह पहले तक भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना कर रहीं थीं। अब भाजपा में शामिल होना, जिसकी वह आलोचना कर रहीं थीं, यह बताता है कि खुशूब में वैचारिक प्रतिबद्धता नहीं है। बता दें कि राजनीति में आने से पहले खुशबू सुंदर दक्षिण भारतीय सिनेमा की जानी-मानी अभिनेत्री थीं। साल 2014 में उन्होंने कांग्रेस पार्टी ज्वाइन की थी और उससे पहले 2010 में खुशबू सुंदर ने द्रमुक पार्टी का दामन थामा था। उस समय पार्टी तमिलनाडु की सत्ता में थी।

शेयर करे...
सीमा पर भारतीय सेना के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 43 पुलों को देश को समर्पित किया। सीमा सड़क संगठन (Border Roads Organisation) द्वारा 7 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में इन पुलों को बनाया है। 286 करोड़ रुपये की लागत से तैयार इन पुलों का निर्माण हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर व लद्दाख में किया गया है। रक्षा मंत्री ने दिल्ली से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पुलों का लोकार्पण किया। इसके अलावा उन्होंने अरुणाचल प्रदेश में बनने जा रही नेचीफू टनल की भी आधारशिला रखी। रक्षामंत्री ने कहा कि एक साथ इतनी संख्या में पुलों का उद्घाटन और सुरंग का शिलान्यास करना अपने आप में एक बड़ा रिकॉर्ड है। सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में स्थित ये पुल कनेक्टिविटी और विकास के एक नए युग की शुरूआत करेंगे, ऐसी मेरी उम्मीद है। उन्होंने कहा कि आज हमारा देश हर क्षेत्र में कोविड-19 के कारण उपजी अनेक समस्याओं का समान रूप से सामना कर रहा है। वह चाहे कृषि हो या अर्थव्यवस्था, उद्योग हो या सुरक्षा व्यवस्था, सभी इस कारण गहरे प्रभावित हुए हैं। राजनाथ सिंह ने कहा कि हाल ही में राष्ट्र को समर्पित अटल टनल इसका जीता-जागता उदाहरण है। यह न केवल भारत, बल्कि विश्व के इतिहास में यह निर्माण अद्भुत और उत्कृष्ट है। यह टनल हमारी 'राष्ट्रीय सुरक्षा' के साथ ही हिमाचल, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के जनजीवन में बदलाव का नया अध्याय है। आज राष्ट्र को समर्पित किए गए पुलों से हमारे पश्चिमी, उत्तरी और उत्तर-पूर्व के दूर-दराज के क्षेत्रों में सैन्य और नागरिक परिवहन में बड़ी सुविधा होगी। हमारे सशस्त्र बलों के जवान बड़ी संख्या में ऐसे क्षेत्रों में तैनात होते हैं जहां पूरे वर्ष परिवहन की सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाती है। इन पुलों में कई छोटे तो कई बड़े पुल हैं, पर उनकी महत्ता का अंदाजा उनके आकार से नहीं लगाया जा सकता। शिक्षा हो या स्वास्थ्य, व्यापार हो या खाद्य आपूर्ति, सेना की मौलिक आवश्यकता हो या अन्य विकास के काम, उन्हें पूरा करने में ऐसे पुलों और सड़कों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में सड़कों, सुरंगों और पुलों का लगातार निर्माण आप लोगों की कनेक्टिविटी और सरकार के दूरदराज के क्षेत्रों में पहुंचने के प्रयास को दर्शाता है। ये सड़कें न केवल सामरिक जरूरतों के लिए होती हैं, बल्कि राष्ट्र के विकास में सभी की समान भागीदारी सुनिश्चित करती हैं। लॉकडाउन की अवधि के दौरान भी बीआरओ ने उत्तर पूर्वी राज्यों, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और केंद्र शासित प्रदेशों, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में निरंतर कार्य किया है। दूरदराज के स्थानों पर बर्फ निकासी में देरी न हो, यह सुनिश्चित करते हुए बीआर ने अपना काम सदैव जारी रखा। पिछले दो वर्षों के दौरान 2200 किलोमीटर से अधिक सड़कों की कटिंग की गई है। साथ ही लगभग 4200 किलोमीटर लंबी सड़कों की सरफेसिंग की गई है। उन्होंने कहा कि आज से 5-6 साल पहले तक संगठन का वार्षिक बजट तीन से चार हज़ार करोड़ रुपये हुआ करता था जो इस समय 11 हजार करोड़ रुपये से भी अधिक हो गया है। यानी लगभग तीन गुना बढ़ गया है और कोविड-19 महामारी के बावजूद बीआरओ के बजट में कोई कमी नहीं की गई है। हमारा हमेशा प्रयास रहा है कि हम देश के विकास में जी-जान से लगे कर्मियों और संगठनों को अधिक से अधिक सुविधा और आधुनिक उपकरण उपलब्ध कराएं।
शेयर करे...

बिहार : राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले से जुड़े एक और मामले में शुक्रवार को झारखंड उच्च न्यायालय से जमानत मिल गई। हालांकि एक अन्य मामले में जमानत नहीं मिलने की वजह से फिलहाल उन्हें जेल में ही रहना होगा और उनकी रिहाई नहीं होगी। जानकारी के मुताबिक, अंतिम मामले में जमानत एक महीने बाद मिलेगी। सभी मामलों में उन्हें जमानत आधी सजा जेल में काटने की वजह से मिल रही है। बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उनके द्वारा चुनाव प्रचार किए जाने की अटकलें लगाई जा रही थी जिस पर एक तरह से विराम लग गया है।

बता दें कि रांची की सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले से संबंधित चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में उन्हें पांच साल की सजा सुनाई है। अपनी जमानत याचिका में लालू यादव ने कहा था कि उन्होंने इस मामले में अपनी आधी सजा काट ली है। इस आधार पर उन्हें जमानत दी जानी चाहिए। इसके अलावा उन्होंने अपनी बीमारी का भी हवाला दिया था।

इससे पहले 11 सितंबर को सुनवाई के दौरान सीबीआई ने जमानत का विरोध किया था। सीबीआई ने जवाब दाखिल करते हुए कहा था कि लालू को चार मामले में सजा सुनाई गई है। सभी मामलों की सजा अलग-अलग चल रही है। जब तक संबंधित अदालत सभी सजा एक साथ चलने का आदेश नहीं दे देती, तब तक सजा अलग-अलग ही चलेंगी। सभी मामलों में आधी सजा काटने के बाद उन्हें जमानत मिल सकती है।\

शेयर करे...

 केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन के बाद अब पीयूष गोयल को उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। इससे पहले रामविलास पासवान के पास यह मंत्रालय था।

राष्ट्रपति भवन ने एक प्रेस रिलीज जारी कर इसकी जानकारी दी है। अब पीयूष गोयल के पास रेल मंत्रालय, वाणिज्य-उद्योग मंत्रालय के साथ-साथ उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार भी हो गया है। शुक्रवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक ने रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि दी। शनिवार को रामविलास पासवान का अंतिम संस्करा पटना में किया जाएगा। ऐसे में केंद्र सरकार के प्रतिनिधि के रूप में रविशंकर प्रसाद पटना में मौजूद रहेंगे।

शेयर करे...

रायपुर|भारतीय जनता पार्टी रायपुर के नव नियुक्त जिलाध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने वरिष्ठ नेता बृजमोहन अग्रवाल, राजेश मूणत, सच्चिदानंद उपासने, नंदे साहू, वर्धमान सुराना, मोती साहू व निर्वितमान अध्यक्ष राजीव अग्रवाल जी की उपस्थिति में विधि विधान से जिला कार्यालय एकात्म परिसर में पदभार ग्रहण किया। भाजपा के नवनियुक्त जिला अध्यक्ष सुंदरानी को बधाई देने वरिष्ठ नेताओं सहित भाजपा के सभी मोर्चा प्रकोष्ठों के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित थे। कोरोना जैसी महामारी को देखते हुए सोशल डिस्टेंसनसिंग का ख्याल रखते हुए सभी कार्यकर्ताओं ने नवनियुक्त अध्यक्ष को साफा, शॉल, श्रीफल, पुष्प गुच्छ भेंट कर बधाई दी। शपथ ग्रहण समारोह में एकत्रित कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए वरिष्ठ विधायक व पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने अपने उद्बोधन में शुरुवाती संघर्षों का जिक्र करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह के समय को याद करते हुए बताया कि विपक्ष में रहकर भय में रहने की आवश्यकता नही, पुलिसिया कार्यवाही और जेल कार्यकर्ता के कंधे में तमगे जैसा होता है उन्होंने कहा कि हम आप कार्यकर्ताओ के उत्साह और कड़े परिश्रम से जनता की सेवा हेतु पुनः छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार बनाएंगे । पूर्व मंत्री और भाजपा के प्रवक्ता राजेश मूणत ने अपने चिर परिचित ओजस्वी अंदाज में बधाई के साथ साथ कार्यकर्ताओ में जोश भरते हुए श्रीचंद सुंदरानी के संघर्षों के विषय मे बताया कि 40 वर्ष पूर्व पार्टी के निर्माण के पश्चात युवामोर्चा के जिला अध्यक्ष से अपनी राजनीतिक पारी की शुरुवात करने वाले श्रीचंद जी अनेक पदों दायित्वों में रहे, उनके राजनीतिक जीवन मे लम्बा संघर्ष रहा , पर उन्होंने कभी पीछे मुड़ के नही देखा। सदैव पार्टी के लिए अचल भाव रखते हुए आगे बढ़े ।

शेयर करे...

एनएसयूआई द्वारा आज रायपुर राजधानी में एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव एवं छत्तीसगढ़ प्रभारी विशाल चौधरी के नेतृत्व में विशाल मशाल रैली का आयोजन किया गया इस रैली के तहत मोदी सरकार के खिलाफ तीन मुद्दों पर इस रैली को निकाला गया इस रैली में छत्तीसगढ़ के संसदीय सचिव विकास उपाध्याय एवं प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा की अध्यक्षता में इस विशाल रैली को निकाला गया इस रैली में एनएसयूआई के सैकड़ों कार्यकर्ताओं द्वारा मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई और तीन मांगों को रखा गया।

1. देशभर में जिस प्रकार महिलाओं के साथ अत्याचार एवं रेप जैसी घटनाएं हो रही है इसके खिलाफ एनएसयूआई द्वारा आज विशाल रूप से छात्रों का आक्रोश देखा गया और मोदी सरकार से मांग की गई कि भारत देश में महिलाओं के लिए एक सशक्त शासन की व्यवस्था की जाए।

2. आज देश में बेरोजगारी इस प्रकार बढ़ गई है कि आज युवा अपनी पढ़ाई करने के बाद बेरोजगारी की मार सह रहे हैं नरेंद्र मोदी जी ने प्रधानमंत्री बनने से पहले यह वादा किया था कि प्रतिवर्ष दो करोड़ लोगों को रोजगार देंगे जिसमें वह असफल रहे इसका विरोध आज छत्तीसगढ़ एनएसयूआई ने किया।।

3. किसान के लिए जो नए कानून बने हैं इसके लिए भी आज छात्रों ने अपना विरोध दर्ज करवाया और एनएसयूआई के बैनर तले छात्रों ने किसान कानून को रद्द करने की मांग की गई।।

प्रदेश प्रभारी विशाल चौधरी ने कहा आज जिस प्रकार मोदी जी के शासन में महिलाओं, युवाओं और किसानों के साथ जो दुर्व्यवहार हो रहा है इसका एनएसयूआई पुरजोर विरोध करती है और यह कार्यक्रम लगातार अलग-अलग जिलों में तीन दिवस तक चलेगा इसके लिए आज मैं छत्तीसगढ़ के दौरे में आया हूं और आज यह अभियान रायपुर जिले से चालू होकर कोरिया जिले में खत्म होगी।।

संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने कहा कि एनएसयूआई प्रदेश में लगातार सक्रिय रुप से हर मुद्दों को उठाती रही है आज उसी के तहत आज महिलाओं, किसानों और युवाओं के साथ जो दुर्व्यवहार केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार कर रही है उस कार्यक्रम के तहत आज रायपुर राजधानी में विशाल मशाल रैली निकाली गई आज इस कार्यक्रम में एनएसयूआई के साथ खड़ा हूं।।

प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा आज प्रदेश प्रभारी के नेतृत्व में हम लोग या अभियान की शुरुआत राजधानी रायपुर से कर रहे हैं और इस तीनों मुद्दों को लेकर हम प्रदेश के विभिन्न जिलों में जाकर कार्यक्रम को और आगे बढ़ाएंगे और नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ जो जनता का और युवाओं का आक्रोश है वह हम सबके समक्ष रखना चाहते हैं एवं युवाओं और महिलाओं,
किसानों को न्याय दिलाना चाहते हैं।।

मशाल रैली में मुख्य तौर पर राष्ट्रीय महासचिव विशाल चौधरी संसदीय सचिव विकास उपाध्याय प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा प्रदेश उपाध्यक्ष भावेश शुक्ला, कोमल अग्रवाल महासचिव चमन साहू रायपुर जिला अध्यक्ष अमित शर्मा प्रदेश सचिव हनी बग्गा, हेमंत पाल, विवेक यदु, शान सैफी, फिंगेश्वर जनपद उपाध्यक्ष योगेश साहू, संचार विभाग तुषार गुहा प्रवक्ता सौरभ सोनकर सह सचिव जयेश तिवारी, अजय साहू जिला अध्यक्ष धमतरी राजा देवांगन जिला कार्यकारिणी विनोद कश्यप, कृष्णा सोनकर महासचिव संकल्प मिश्रा, निखिल बंजारी, सचिव विकास दुबे, पुष्पेंद्र ध्रुव, शांतनु झा विधानसभा अध्यक्ष विकास राजपूत आदि।

शेयर करे...
Page 1 of 6

Magazine

The Edition Today Magazine (July - 2020)