बिज़नस

बिज़नस (13)

नई दिल्ली। यस बैंक मामले में रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी मुंबई में ईडी के सामने पेश हुए। अनुमान है कि जांच एजेंसी धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत 60 वर्षीय अंबानी का बयान दर्ज करेगी। प्रवर्तन निदेशालय ने उन्हें सोमवार को ही इस मामले में पेश होने के समन जारी किया था।मिली जानकारी के अनुसार यस बैंक के मनी लॉन्ड्रिग केस में पूछताछ के लिए अनिल अंबानी प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश हुए। बताया जाता है कि अंबानी की नौ समूह कंपनियों ने यस बैंक से लगभग 12,800 करोड़ रुपये का ऋण लिया था, जिसकी कथित तौर पर वापसी नहीं हो रही है। प्रवर्तन निदेशालय ने येस बैंक के प्रवर्तक राणा कपूर और अन्‍य के खिलाफ शुरू की गई मनी लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी को भी समन भेजा था।

अधिकारियों ने बताया कि अंबानी को सोमवार को ईडी के मुंबई स्थित कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा गया था, लेकिन तब उन्‍होंने आने में असमर्थता जताई थी। इसके बाद ईडी ने नया समन जारी कर उन्‍हें 19 मार्च को आने के लिए कहा था। मिली जानकारी के अनुसार अनिल अंबानी की कंपनियां उन बड़ी इकाइयों में शामिल हैं, जिन्‍होंने येस बैंक से ऋण लिया था और बाद में वह एनपीए घोषित किया गया।

शेयर करे...

नई दिल्ली। यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर और अन्य के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी को समन भेजा है। जानकारी के अनुसार, अंबानी ने जांच एजेंसी से स्वास्थ्य के आधार पर छूट मांगी है और उन्हें एक नई तारीख जारी की जा सकती है। रिलायंस समूह की कंपनियों ने बैंक से तकरीबन 12,800 करोड़ रुपये कर्ज लिया था, जो एनपीए हो गया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने छह मार्च की प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि अनिल अंबानी ग्रुप, एस्सेल, आईएलएफएस, डीएचएफएल और वोडाफोन आदि ग्रुप ने यस बैंक से कर्ज लिया था।

अधिकारियों ने कहा कि उन सभी बड़ी कंपनियों के प्रमोटर्स को पूछताछ के लिए बुलाया है, जिन्होंने कर्ज लिया और वापस नहीं कर सके।बता दें कि यस बैंक पर रिजर्व बैंक की ओर से लगाई गई रोक 18 मार्च को हट जाएगी। सरकार ने शनिवार को अधिसूचना जारी की है। सरकार ने जानकारी देते हुए कहा था कि मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक प्रशांत कुमार की अगुवाई वाला निदेशक मंडल इस महीने के अंत तक पदभार संभाल लेगा। सरकार ने शुक्रवार को देर शाम यस बैंक पुनर्गठन योजना 2020 को अधिसूचित किया था। योजना के तहत एसबीआई तीन साल तक यस बैंक में अपनी हिस्सेदारी को 26 प्रतिशत से कम नहीं कर सकेगा। वहीं, अन्य निवेशक और मौजूदा शेयरधारकों को यस बैंक में अपने 75 प्रतिशत निवेश को तीन साल तक कायम रखना होगा। हालांकि, 100 से कम शेयरधारकों के लिए इस तरह की कोई रोक या लॉक इन की अवधि नहीं होगी।

शेयर करे...

नई दिल्ली। माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक और प्रौद्योगिकी सलाहकार बिल गेट्स ने कंपनी के निदेशक मंडल से इस्तीफा दे दिया है। माइक्रोसॉफ्ट ने उनके इस्तीफे की वजह समाजिक कार्यों के लिए अधिक समय देना बताया है। हालांकि वह कंपनी में सीईओ सत्या नडेला और अन्य अधिकारी के प्रौद्योगिकी सलाहकार के रूप में काम करना जारी रखेंगे। उनके इस्तीफे पर कंपनी के सीईओ सत्या नडेला ने कहा कि गेट्स के साथ काम करना बहुत ही सम्मान और सौभाग्य की बात है। मैनें उनके साथ वर्षों तक काम किया है और सीखा है। गेट्स ने इस कंपनी की स्थापना समाज की चुनौतियों को हल करने के लिए किया है। बता दें कि बिल गेट्स ने 1975 में पॉल एलन के साथ माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की स्थापना की। सन् 2000 तक वह कंपनी के सीईओ के पद पर रहे।

शेयर करे...

नई दिल्ली। भारतीय शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखी जा रही है। कोरोना वायरस के खौफ के चलते भारतीय शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के आखिरी दिन शुक्रवार को लाल निशान के साथ खुले। सेंसेक्स 3000 अंक लुढ़का, निफ्टी का कारोबार 1 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। बीएसई का 30 शेयरों वाला इंडेक्स सेंसेक्स 3090.62 से ज्यादा अंक लुढ़क गया। सेंसेक्स आज 31,214.13 अंक पर खुला। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 31,221.47 अंक के उच्च स्तर पर गया जबकि 29,896.31 के निम्न स्तर पर गया। सेंसेक्स के सभी इंडेक्स में गिरावट देखी जा रही है। गौरतलब है कि 4 मार्च 2015 को सेंसेक्स पहली बार 30 हजार के स्तर को पार किया था। सेंसेक्स सुबह 9 बजकर 25 मिनट पर 9.43 प्रतिशत की गिरावट के साथ 29,687.52 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा है। शुक्रवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 9107.60 अंक पर खुला। शुरुआती कारोबार में निफ्टी 9133.20 अंक के उच्च स्तर पर गया जबकि 8624.05 के निम्न स्तर पर गया। खबर लिखे जाने तक निफ्टी में 966.10 अंक यानी 10.07 प्रतिशत की गिरावट के साथ 8624.05 अंकों के स्तर पर कारोबार करता दिखाई दिया। अधिक गिरावट के कारण निफ्टी में कारोबार 1 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है।

शेयर करे...

मुंबई। यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने भी केस दर्ज कर लिया है। यह कार्रवाई धनशोधन रोकथाम अधिनियम के तहत की गई है। सीबीआई की आर्थिक अपराध शाखा ने सात मार्च को यस के संस्थापक राणा कपूर, डीओआईटी अर्बन वेंचर्स कंपनी (राणा कपूर परिवार से जुड़ी कंपनी), कपिल वधावन (दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के अध्यक्ष) और अन्य के खिलाफ भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के तहत एफआईआर दर्ज की है।

यस बैंक मामले में सीबीआई की ओर से कई जगह छापेमारी की गई है। दिल्ली और मुंबई में सीबीआई ने सोमवार सुबह छापेमारी की। इस दौरान डीएचएफएल से जुड़े ठिकानों पर भी सर्चिंग की गई है। सीबीआई जिन स्थानों पर छापे मार रही है। इसके अलावा मुंबई के बांद्रा में मौजूद एचडीआईएल के टावर में भी सीबीआई की ओर से छापेमारी की गई है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राणा कपूर को 11 मार्च तक हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ लगातार जारी रहेगी।बता दें कि ईडी ने सबसे पहले राणा कपूर को हिरासत में लिया, उसके बाद राणा कपूर की बेटी रोशनी कपूर को एयरपोर्ट पर रोका गया। राणा कपूर की गिरफ्तारी के बाद बीती रात (8 मार्च) ईडी ने उनकी पत्नी और एक बेटी से करीब दो घंटे तक पूछताछ की।

हालांकि इस पूछताछ के बाद उन्हें घर जाने दिया गया है। लेकिन जांच में सहयोग करने के लिए बोला गया है। रिपोर्ट के मुताबिक रविवार रात करीब दस बजे आरोपी राणा कपूर की बेटी और पत्नी ईडी के दफ्तर पहुंचीं थी। जहां करीब 2 घंटे तक दोनों से पूछताछ की गई। ईडी ने धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत राणा कपूर से सात घंटे पूछताछ कर बयान दर्ज किया था। इसके अलावा और अधिक जानकारी एवं सबूत जुटाने के लिए कपूर की तीन बेटियों के दिल्ली और मुंबई स्थित परिसरों पर शनिवार को छापे भी मारे।

शेयर करे...

फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक सचिन बंसल के खिलाफ उनकी पत्नी प्रिया ने दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज किया है। समाचार एजेंसी आइएएनएस ने इसकी जानकारी दी है। पुलिस ने गुरुवार को बताया कि फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक सचिन बंसल की पत्नी प्रिया ने बेंगलुरू के कोरमंगला पुलिस स्टेशन में उनके खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज किया है।मड़ीवाला के सहायक पुलिस आयुक्त कारी बसवनगौड़ा ने समाचार एजेंसी आईएएनएस से इसकी पुष्टि की। समाचार एजेंसी आइएएनएस ने जानकारी देते हुए बताया कि एफआईआर में प्रिया बंसल ने आरोप लगाया कि शादी के बाद यह तय किया गया कि मैं अपने पति के साथ रहूंगी। शादी से पहले ससुराल वाले मेरे घर आए और दहेज मांगा। मेरे पति और ससुराल वाले मुझे शादी के लिए मानसिक और शारीरिक यातना दे रहे हैं।उन्होंने साथ ही बताया कि जब मेरी बहन राधिका गोयल दिल्ली में थीं, तब सचिन ने उनका यौन उत्पीड़न किया था, सचिन ने मेरे नाम की सभी संपत्तियां अपने नाम पर ट्रांसफर करने की कोशिश की थी और जब मैंने मना कर दिया तो सचिन ने 20 अक्टूबर, 2019 को मेरा शारीरिक शोषण किया था। इतना ही नहीं मुझे ससुराल वालों की तरफ से भी मानसिक और शारीरिक यातनाएं झेलनी पड़ी। सचिन बंसल की पत्नी प्रिया बंसल ने आरोप लगाया कि उसके पिता ने उसकी शादी पर 50 लाख रुपये खर्च किए और इसके अलावा 38 वर्षीय बंसल को 11 लाख रुपये भी दिए।उन्होंने साथ ही कहा कि भारत में ई-कॉमर्स की अग्रणी कंपनी का संस्थापक उन्हें अपने स्वामित्व के नाम पर सभी संपत्तियों को ट्रांसफर करने के लिए परेशान कर रहा है।उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा ना करने की वजह से सचिन बंसल और उनका परिवार उसे परेशान कर रहा है।

शेयर करे...

नई दिल्ली। शेयर बाजार सप्ताह के तीसरे दिन बुधवार को जोरदार बढ़त के साथ खुला है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 338.22 अंक यानी 0.83 फीसदी की बढ़त के बाद 41,232.60 के स्तर पर खुला। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 110.85 अंक यानी 0.92 फीसदी की बढ़त के बाद 12,102.85 के स्तर पर खुला। इससे पहले लगातार चार दिनों तक बाजार लाल निशान पर बंद हो रहा था। दिग्गज शेयरों की बात करें तो बुधवार को कोल इंडिया, इंफ्राटेल, इंडसइंड बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, एसबीआई, एनटीपीसी, ओएनजीसी, टाटा स्टील, एचसीएल टेक और वेदांता लिमिटेड के शेयर हरे निशान पर खुले है। यस बैंक की शुरुआत लाल निशान पर हुई। सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर डालें तो आज सभी सेक्टर्स हरे निशान पर खुले। इनमें मीडिया, प्राइवेट बैंक, आईटी, एफएमसीजी, ऑटो, रियल्टी, फार्मा, मेटल और पीएसयू बैंक शामिल हैं।

शेयर करे...

नई दिल्ली, । सुप्रीम कोर्ट आज मंगलवार को भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की याचिका पर सुनवाई करेगा। यह याचिका माल्या ने भारत में अपनी संपत्ति जब्त करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा शुरू की गई कार्यवाही के खिलाफ डाली है। बता दें कि लगभग छह महीने पहले अपने और अपने रिश्तेदारों के स्वामित्व वाली सभी संपत्तियों को जब्त करने पर रोक लगाने की मांग करते हुए विजय माल्या ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। इससे पहले उन्होंने बांबे हाईकोर्ट में अपील की थी जो की खारिज हो गई थी। अपनी दलील में माल्या ने कहा था कि वह केवल उन अनियमितताओं का अटैचमेंट चाहते थे जो किंगफिशर एयरलाइंस से संबंधित हैं। ज्ञात हो कि पीएमएलए (प्रीवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट) कोर्ट ने जनवरी 2019 में माल्या को आर्थिक भगोड़ा घोषित किया था। माल्या पर बैंकों के 9000 करोड़ रुपये लेकर भागने का आरोप है। वह मार्च 2016 में ही लंदन भाग गया था।

शेयर करे...

नई दिल्ली। BS-4 मानक वाले वाहनों की बिक्री पर आने वाली 1 अप्रैल से प्रतिबंध लग जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया है। देश और दुनिया में प्रदूषण कम करने के उद्देश्य से कवायदें हो रही हैं और इसी के तहत भारत में भी जहां एक तरफ BS-6 मानक वाले इंजन के वाहन लॉन्च होने लगे हैं वहीं इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को भी प्रमोशन मिल रहा है। दूसरी तरफ देश में अभ भी BS-4 मानक वाले इंजन के साथ वाहनों की बिक्री जारी है। लेकिन यह ज्यादा दिनों तक नहीं चल सकेगी और जल्द आपको BS-6 मानक वाली कारें ही खरीदना होगी। सर्वोच्च न्यायालय ने इनकी बिक्री के लिए एक महीने की मोहलत देने की ऑटोमोबाइल डीलरों के संगठन की मांग ठुकरा दी। इसके बाद अब यह तय हो चुका है कि देश में एक अप्रैल, 2020 के बाद बीएस-4 गाड़ियों की बिक्री का रास्ता बंद हो गया है। शीर्ष अदालत ने 24 अक्टूबर, 2018 के फैसले में कहा था कि एक अप्रैल, 2020 के बाद बीएस-4 वाहनों की न तो बिक्री होगी और न ही रजिस्ट्रेशन।देश भर में BS-4 के मानकों को अप्रैल, 2017 से लागू किया गया था। इससे पहले, 2016 में केंद्र सरकार ने एलान किया था कि भारत BS-5 को पीछे छोड़ते हुए 2020 तक BS-6 के मानकों को लागू करेगा। जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस दीपक गुप्ता की पीठ ने शुक्रवार को संगठन की याचिका पर सुनवाई करते हुए स्पष्ट कर दिया कि निर्धारित समय सीमा को एक दिन के लिए भी नहीं बढ़ाया जाएगा।

शेयर करे...

नई दिल्ली। चीन में हजारों लोगों को शिकार बना चुके करोनो वायरस से अब बाजार पर भी असर पड़ने लगा है। स्थानीय बाजार में एक महीने से चीन के राजमा की सप्लाई ठप होने से राजमा की कीमतों में 30-35 फीसदी तक इजाफा हो गया है। बाजार में पहले से स्टाक में रखा माल ही बिक रहा है। कारोबारियों के अनुसार बाजार में राजमा की 80 फीसदी आपूर्ति चीन पर निर्भर है। इसके अलावा तुर्की से राजमा की आपूर्ति होती है लेकिन इस साल वहां फसल अच्छी नहीं होने से आयात कम हो पाया है। चीन में कोरोना वायरस का मामला सामने नहीं आया था, फुटकर बाजार में चीन का राजमा 100 रुपये प्रति किलो बिक रहा था। अब इसके दाम बढ़कर 130-140 रुपये तक पहुंच गए हैं। इसी तरह थोक बाजार में 90 रुपये प्रतिकिलो के दाम बढ़कर 115 से 120 रुपये तक हो गए हैं। फुटकर बाजार में भद्रवाह और डोडा का राजमा 150-160 रुपये प्रतिकिलो मिल रहा है। बाजार में ग्राहकों को चीन का राजमा पुराने स्टॉक से ही मिल पा रहा है। कोरोना वायरस के चलते चीन से पिछले एक माह में राजमा की नई आपूर्ति नहीं हुई है। थोक कारोबारियों का कहना है कि अगर अगले कुछ महीने तक कोरोना वायरस का खौफ इसी तरह बरकरार रहता है तो स्थानीय बाजार में राजमा के दाम आसमान छूने लगेंगे।

शेयर करे...