मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश (52)

भोपाल: मध्य प्रदेश में सत्ता में वापसी करने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया | 29 दिनों के बाद हुए कैबिनेट विस्तार में 5 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई है | इनमें कांग्रेस से भाजपा में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक मंत्री भी शामिल हैं | मुख्यमंत्री शिवराज चौहान की शपथ के 29 दिन बाद आज उनके मंत्रियों को राजभवन में शपथ दिलाई गई | शपथ लेने वाले मंत्रियों में बीजेपी के दिग्गज नेता डॉ. नरोत्तम मिश्रा, कमल पटेल और मीना सिंह जैसे नाम शामिल हैं। राज्यपाल ने सबसे पहले डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। वह 1990 में पहली बार विधानसभा सदस्य चुने गए थे। इसके बाद वे दतिया से 1998, 2003, 2008 और 2013, 2019 में विधायक चुने गए।

दूसरे नंबर पर तुलसी सिलावट को राज्यपाल ने मंत्री पद की शपथ दिलाई। वे कमलनाथ सरकार में मंत्री रह चुके हैं और उन्हें ज्योतिरादित्य सिंधिया का करीबी माना जाता है। तीसरे नंबर पर कमल पटेल ने मध्यप्रदेश के मंत्री के तौर पर शपथ ली। वे मध्यप्रदेश भाजपा के नेता हैं। वह पांच बार- 1993, 1998, 2003, 2008 और 2018 में हरदा विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए हैं। चौथे नंबर पर गोविंद सिंह राजपूत ने पद एवं गोपनियता की शपथ ली। वे तीन बार सागर के सुरगी से विधायक रह चुके हैं। वे कमलनाथ सरकार के 22 बागी विधायकों में शामिल थे। पांचवे नंबर पर मीना सिंह ने मंत्री पद की शपथ ली। अपने पति की मौत के बाद मीना सिंह ने 2008 में अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। जिन पांच मंत्रियों ने शपथ ली है, उनमें दो सिंधिया खेमे के हैं | सिंधिया खेमे से तुलसी सिलावट और गोविंद राजपूत मंत्री बने हैं, इन दोनों लोगों ने कमलनाथ सरकार से इस्तीफा दे दिया था | तुलसी सिलावट और गोविंद राजपूत विधायक नहीं है | ये पिछली सरकार में मंत्री थे |

लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया के कहने पर कमलनाथ सरकार से इस्तीफा देकर बीजेपी से जुड़ गये | मंत्री पद की शपथ लेने वाले नरोत्तम मिश्रा पार्टी के वरिष्ठ विधायक हैं और बीजेपी की सरकार वापसी में उनकी खास भूमिका है | इसके अलावा कमल पटेल हरदा के विधायक और जाट नेता हैं | साथ ही विधायक मीना सिंह आदिवासी पूर्व मंत्री और महिला कोटे से मंत्री बनीं है | तुलसी सिलावट कमलनाथ सरकार में स्वास्थ्य मंत्री थे | वहीं गोविंद राजपूत परिवहन और राजस्व मंत्री रह चुके हैं | वर्तमान में मध्य प्रदेश कोरोना की महामारी से जूझ रहा है | इसी के चलते छोटे मंत्रिमंडल का गठन हुआ है । राज्य में कांग्रेस के 22 विधायकों द्वारा बगावत कर विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिए जाने के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ को 20 मार्च को पद से इस्तीफा देना पड़ा था | इसके बाद बीजेपी ने सरकार बनाने का दावा पेश किया था | 23 मार्च की रात को शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी | उसके बाद से ही मंत्रिमंडल गठन के कयास लगाए जा रहे थे |

शेयर करे...

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार सुबह मंत्रिमंडल का गठन होना है। पहले चरण में 5 विधायकों को मंत्री बनाए जाना है। इनमें भाजपा खेमे से नरोत्तम मिश्रा, कमल पटेल और मीना सिंह व सिंधिया समर्थकों में तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह के नाम हैं। शपथ राजभवन में होगी। प्रदेश में करीब 20 दिन तक चले सत्ता के संघर्ष के बाद शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च को सीएम पद की शपथ ली थी, लेकिन कोरोना वायरस को लेकर चल रहे लॉक डाउन के कारण शिवराज मंत्रिमंडल का गठन नहीं कर पा रहे थे। सोमवार को सत्ता संगठन के बीच अलग-अलग बैठकों के बाद मंत्रिमंडल विस्तार की संभावना बढ़ गई। सूत्रों के मुताबिक, देर रात मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लंबी चर्चा हुई, जिसमें मंत्रियों के नामों को लेकर मंथन हुआ। इससे पहले, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत के घर में शाम 6 बजे बीडी शर्मा सहित अन्य नेताओं के हुई बैठक में नामों पर विमर्श हुआ।आज पांच लोग मंत्रिमंडल की शपथ लेंगे।

शेयर करे...

भोपाल: कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरे सूबे में लॉक डाउन है और समस्त गतिवधियों के शराब दुकानों को खोलने पर भी पाबंदी है। इन दुकानों के बंद होने से शराब दुकान संचालकों को राजस्व का भारी नुकसान हो रहा है और अंदरूनी तौर पर आबकारी महकमे पर शराब दुकान खोलने के लिए दवाब भी है। ऐसे में आबकारी महकमे ने 20 अप्रैल से शराब दुकानें खोलने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन बताते हैं कि जिसे सरकार ने ठुकरा दिया है यानी अब 20 अप्रैल शराब दुकानें नहीं खुलेंगी, यह तय हो गया है।

आबकारी महकमे के सूत्रों का कहना है कि प्रदेश में शराब की 3,605 दुकानों से देशी-विदेशी शराब की बिक्री होती है। लॉकडाउल के कारण सरकार ने इन दुकानों को बंद करा दिया है। इससे मध्यप्रदेश को करोड़ों रूपए की राजस्व की हानि हुई है। सरकारी सूत्रों का कहना है कि 3 मई के बाद ही प्रदेश में शराब की दुकानें खुलेंगी।

शेयर करे...

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लॉकडाउन की समय सीमा तीन मई तक के लिए बढ़ा दी है। इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोविड-19 के मरीजों की जांच की व्यवस्था पर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा कि भारत में 10 लाख लोगों में से सिर्फ 149 का टेस्ट हो पा रहा है। साथ उन्होंने कुछ अन्य देशों का भी जिक्र किया। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि भारत ने टेस्टिंग किट खरीदने में देरी की है। उन्होंने कहा कि हम टेस्टिंग करने के मामले में लाओस, नाइजर और होंडुरास के साथ खड़े हैं, जहां दस लाख लोगों पर क्रमश: 157, 182 और 162 लोगों की जांच हो रही है।

राहुल गांधी ने कहा है कि समूह स्तर पर जांच कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई का प्रमुख हथियार है। आज के समय में हम इस मामले में काफी पीछे हैं। इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को ट्वीट कर कहा था, ‘भीषण आर्थिक मंदी ने कई भारतीय कॉरपोरेट को कमजोर कर दिया है, उन्हें अधिग्रहण के लिए आसान निशाना बना दिया है। सरकार को राष्ट्रीय संकट की इस घड़ी में विदेशी कंपनियों को किसी भारतीय कंपनी का नियंत्रण अपने हाथों में लेने की इजाजत नहीं देनी चाहिए।’

शेयर करे...

भोपाल: मध्यप्रदेश में भोपाल पुलिस ने आज बड़ी कार्रवाई करते हुए तब्लीगी जमात से जुड़े 64 विदेशी नागरिकों सहित 10 भारतीय सदस्यों को गिरफ्तार किया है। विदेशी नागरिकों पर वीजा उल्लंघन का आरोप है। भोपाल पुलिस ने बताया कि इन सभी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 188, 269, 270, द नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट की धारा 13 द फॉरेनर्स एक्ट की धारा 14 के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। दरअसल, गुरुवार को पुलिस ने अलग-अलग थानों में 64 विदेशी जमाती और 10 देशी जमाती के साथ उनकी मदद करने वाले 13 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। पुलिस ने शासकीय आदेश और वीजा उल्लंघन करने के साथ धारा 188, 269, 270 आईपीसी धारा 51 राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम धारा 13, 14 विदेशियों विषयक अधिनियम 1964 के तहत ऐशबाग, मंगलवारा, श्यामला हिल्स, पिपलानी और तलैया थाने में केस दर्ज किए थे।

शेयर करे...

छिन्दवाड़ा: मध्यप्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी से फ़ैल रहा है राज्य में अब तक कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 449 पहुंच गया है | जबकि मरने वालो की संख्या 33 जा पहुंची है | इस बीच छिंदवाड़ा जिला मुख्यालय से लगभग 38 किलोमीटर दूर एक गांव में लॉक डाउन की अवहेलना कर सामूहिक तौर पर मस्जिद में नमाज अदा करने का मामला सामने आया है | पुलिस ने लॉक डाउन तोड़ने के आरोप में एक समुदाय के 40 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। पुलिस ने बताया कि जिले के चौरई तहसील के खैरीखुर्द गांव में गुरुवार रात एक मस्जिद में गांव के सरपंच सहित 40 लोग लॉकडाउन का उल्लंघन कर सामूहिक तौर पर नमाज अदा करते हुए मिले।लॉकडाउन का उल्लंघन कर बड़े पैमाने पर लोगों के इकठ्ठा होने की सूचना मिली थी। इस पर पुलिस के गश्ती दल द्वारा सीआरपीसी की धारा 144 (पांच या अधिक लोगों के जमा होने पर प्रतिबंध), भारतीय दंड संहिता की धारा 188 (सरकारी सेवक के कानूनी आदेश की अवहेलना), धारा 269 (उपेक्षापूर्ण कार्य जिससे जीवन के लिए संकट पूर्ण रोग का संक्रमण फैलना संभाव्य हो) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

शेयर करे...

भोपाल: मध्यप्रदेश में कोविड 19 के संक्रमण की जद में स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव पल्लवी जैन गोविल समेत 33 ऐसे अधिकारी हैं जिनमें कोविड 19 संक्रमित पाया गया है। खबरें हैं कि, प्रमुख सचिव पल्लवी जैन गोविल अस्पताल में भर्ती नहीं हो रही थी, उन्हें जिला प्रशासन की सख़्ती और मुख्य सचिव के हस्तक्षेप के बाद नीजि अस्पताल में दाखिल कराया गया है। रिपोर्ट के अनुसार अब तक स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव, उप सचिव, डिप्टी डायरेक्टर समेत 33 ऐसे लोग हैं जिन्हे अस्पताल दाख़िल कराया गया है। इनमें 29 को कल और आज अन्य पाँच को भी दाखिल करा दिया गया है।

शेयर करे...

रायपुर: राज्य शासन द्वारा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन कार्डधारकों को अप्रैल और मई दो माह का चावल एक साथ वितरित करने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत दो अप्रैल की स्थिति में 8 हजार 110 उचित मूल्य दुकानों से खाद्यान्न वितरण शुरू हो गया है। इस खाद्यान्न वितरण से 13 लाख 24 हजार 563 राशन कार्डधारी लाभान्वित हुए हैं। खाद्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राज्य में कुल 12 हजार 306 राशन दुकाने संचालित है। अब तक 7 हजार 011 दुकानों में दो माह का राशन और 11 हजार 407 दुकानों में एक माह का राशन भण्डारित किया जा चुका है।

राज्य में राशनकार्डों की कुल संख्या 65 लाख 39 हजार 184 है। इनमें अंत्योदय राशनकार्डों की संख्या 13 लाख 95 हजार 635, प्राथमिकता राशनकार्डाें की संख्या 42 लाख 6 हजार 423, एकल निराश्रित राशनकार्डाें की संख्या 38 हजार 302, अन्नपूर्णा राशनकार्डाें की संख्या 6 हजार 163, निःशक्तजन राशनकार्डाें की संख्या 9 हजार 823 और सामान्य (एपीएल) राशनकार्डों की संख्या 8 लाख 82 हजार 838 है। राज्य शासन के निर्देशानुसार राशन दुकानों से राशन सामग्री वितरण के दौरान उचित मूल्य के दुकानदारों द्वारा हितग्राहियों से बायोमेट्रिक्स प्रमाणीकरण नही कराया जाएगा। राशन सामग्री का वितरण आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से न करते हुए टेबलेट में हितग्राहियों का फोटो लेकर अथवा वन टाईम पासवर्ड के माध्यम से किया जाएगा।

शेयर करे...

भोपाल;-शिवराज सिंह चौहान चौौथीी बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। राज्यपाल ने रात 9 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। ली और आज रात ही पदभार ग्रहण कर अधिकारियों की बैठक ली। शिवराज सिंह चौहान ने सीएम पद की शपथ लेने के बाद चौथी बार मध्य प्रदेश की कमान संभाली है। पहली बार वह 29 नवंबर 2005 में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे. इसके बाद शिवराज सिंह चौहान 12 दिसंबर 2008 में दूसरी बार सीएम बने. 8 दिसंबर 2013 को शिवराज ने तीसरी बार सीएम पद की शपथ ली थी।हाल में ही मध्य प्रदेश से कमलनाथ सरकार की विदाई हुई है. दरअसल, कांग्रेस के 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था. इसमें 6 मंत्री शामिल थे. स्पीकर ने मंत्रियों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया था. इस्तीफे के कारण कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी, लेकिन फ्लोर टेस्ट कराने की बजाए सदन को स्थगित कर दिया गया था।

शेयर करे...

भोपाल। मध्यप्रदेश में नए मुख्यमंत्री के नाम को लेकर भाजपा विधायक दल की बैठक सोमवार शाम 6 बजे प्रदेश कार्यालय में होगी। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा सहित वरिष्ठ नेता और विधायक शामिल होंगे। वहीं केंद्रीय मंत्री धर्मेंद प्रधान,नरेंद्र सिंह तोमर,राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन और प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे वीडियो कांफ्रेंस के जरिए जुड़ेंगे।

शेयर करे...
Page 2 of 4

Magazine

The Edition Today Magazine (July - 2020)