गर्भवती महिला की लाश से कान काटकर नोच लिए सोने के बाली, एक बार फिर हुई इंसानियत शर्मसार Featured

मध्यप्रदेश(ग्वालियर):  एक महिला जिसे डिलीवरी के लिए अस्पताल लाया जाता है, लेकिन आधा घंटे बाद ही उस मां व गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो जाती है। लाश को परिजनों के सुपुर्द किया जाता है। यह दृष्य भलें अस्पतालों में आम हो, लेकिन क्या हो अगर चंद रुपयों के लिए उस गर्भवती महिला की लाश के किसी अंग को काटकर जेवर उतार लिए जाएं। इंसानियत को धिक्कारने वाली यह भयावह हरकत बुधवार-गुरुवार की दरम्यानी रात ग्वालियर में हुई है। बसंत विहार कॉलोनी स्थित संस्कार हॉस्पिटल पर इलाज में लापरवाही के साथ ही यह गंभीर आरोप मृतका के परिजनों ने लगाए हैं। दरअसल धौर्य, तहसील बसेड़ी जिला धौलपुर राजस्थान से डिलीवरी के लिए 28 वर्षीय क्षमा को संस्कार अस्पताल लाया गया गया था।

धौलपुर स्थित सरकारी अस्पताल से यह केस ग्वालियर रैफर हुआ था, परिजनों का कहा है कि धौलपुर में भी इलाज में लापरवाही हुई, इसलिए केस बिगड़ गया। ग्वालियर के संस्कार अस्पताल में महज आधा घंटे महिला भर्ती रही, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। परिजन जब एंबुलेंस से शव को घर ले जा रहे थे, तो रास्ते में उनकी नजर महिला के कान पर पड़ी जिससे खून निकल रहा था। महिला का एक कान कटा हुआ था जिसमें से सोने का कुंडल गायब था, वहीं दूसरे कान में कुंडल मौजूद था। लाश के कान को काटकर कुंडल नोच लिया गया था। परिजनों का आरोप है कि यह शर्मनाक करतूत अस्पताल के स्टाफ की है।

Rate this item
(0 votes)
शेयर करे...

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.