राफेल करार के जरिए पीएम मोदी ने अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाया: राहुल गांधी Featured

विदिशा (मध्य प्रदेश)। राफेल लड़ाकू विमान सौदे में अपने आरोप दोहराते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि विमान बनाने वाली सरकारी कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को इस करार में ‘ऑफसेट पार्टनर’ नहीं बनाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्योगपति अनिल अंबानी के पक्ष में सौदा कराया और उन्हें 30,000 करोड़ रुपए का फायदा पहुंचाया। राहुल ने कहा कि यहां तक कि यशवंत सिन्हा और अरूण शौरी जैसे भाजपा नेताओं ने भी कहा कि ‘‘राफेल सौदे में साफ भ्रष्टाचार हुआ है, प्रक्रिया का पालन नहीं होकर कुछ न कुछ तो यहां हुआ है।’’ 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सीबीआई निदेशक आलोक कुमार वर्मा राफेल घोटाले की जांच करने वाले थे लेकिन रात के दो बजे उन्हें पद से हटा दिया गया। उन्होंने कहा, ‘‘यदि जांच हुई तो केवल दो नाम सामने आएंगे। नरेंद्र मोदी और अनिल अंबानी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी सर्जिकल स्ट्राइक की बात करते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक में जिन हेलीकाप्टरों में हमारे जवान गए थे, वह सरकारी कंपनी एचएएल ने बनाए थे लेकिन अनिल अंबानी को विमान बनाने का कोई अनुभव नहीं है।’’ राहुल ने कहा कि अनिल अंबानी पर सरकारी बैंकों का 45,000 करोड़ रुपए का कर्ज है जो कि उन्हें चुकाना है।
 
कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार के कार्यकाल में हुए व्यापमं घोटाले से प्रदेश का शिक्षा ढांचा खत्म हो गया। इसमें 50 लोगों की मौत हो गई लेकिन कोई जेल नहीं गया। उन्होंने कहा कि ई-टेंडरिंग घोटाले में मुख्यमंत्री के रिश्तेदारों को ठेके दिए जाते हैं। राहुल ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे में अनिल अंबानी की कंपनी को ‘ऑफसेट साझेदार’ बनाने की आलोचना करते हुए इस करार में भ्रष्टाचार के आरोप दोहराए।
 
देश में पैसे की कोई कमी नहीं, लेकिन ऊपर से नीचे तक होती है धन की चोरी: राहुल गांधी
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर झूठ बोलने के आरोप लगाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि देश में पैसे की कोई कमी नहीं है, लेकिन ऊपर से नीचे तक हर स्तर पर धन की चोरी कर ली जाती है।
Rate this item
(0 votes)
शेयर करे...

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.