देखे वीडियो-गढ़चिरोली के भामरागड से रेस्क्यू करके निकाले गए 500 लोग Featured

By Sumit Sengar September 08, 2019 743 0

गढ़चिरोली- गडचिरोली जिले मे 3 दिन से भारी बारीश से जनजीवन प्रभावित हुआ है. अब भी यहा रुक रुक कर बारीश हो रही है. गोसीखुर्द तथा चिचडोह डेम से पानी छोडे जाने से वैनगंगा नदी उफान पर है. जीस से ईसकी सहायक नदीयों का जलस्तर तेजी से बढकर आसपास की खेतो को निगल रहा है. नागपूर स्थित मौसम विज्ञान केंद्र ने गडचिरोली मे रविवार को भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. जिले की वैनगंगा -कठाणी -खोब्रागडी -दिना- प्राणहिता - पाल इन प्रमुख नदीयों के किनारे तोड खेतो मे प्रवेश किया है. हजारो एकड धान फसल इस आपदा से डूब गयी है. लगातार पांचवे दिन सुदूर भामरागड तहसील पर्लकोटा नदी की बाढ के चलते जिला मुख्यालय से कट चुका है. भामरागड की स्थिती का जायजा लेने आज जिलाधिकारी तथा जिला पुलिस अधीक्षक ने हेलीकॉप्टर द्वारा दौरा किया. इस शहर मे कुल 500 निवासीयों को सुरक्षित स्थान पर भेजा गया है. स्थानिय अधिकारी जिला मुख्यालय से सीधे संपर्क मे है. रविवार के मौसम अलर्ट को देखते हुए लोगो से सावधानी बरतने की अपील की गयी है. इसी बीच गणेश विसर्जन के इन दिनो मे नागरिक नदी मे गहरे पानी मे जाने से बचे ऐसा आहवान जिला प्रशासन ने किया है. पिछले 3 दिनो की बारीश मे जिले मे 3 लोगों की मौत हुई है. भामरागड मे इन दिनो भारी बारीश हो रही है. यहा संचार साधनो के अभाव मे बारीश के दर्ज होने के अंतिम आकडे जुटा नही पाये है. जिले मे 1 जून से अब तक कुल 1687 मिमी बारीश दर्ज हुई है, यह आकडा जिले के सालाना बारीश औसत के 124 % है. भामरागड मे कुल 500 लोगोको सुरक्षित स्थानो पर ले जाया गया है. ताजा जानकारी के अनुसार यहा पानी के स्तर कम होने की जानकारी मिली है.

Rate this item
(2 votes)
Last modified on Sunday, 08 September 2019 09:55
शेयर करे...

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Magazine

The Edition Today Magazine (July - 2020)