देश

देश (854)

हैदराबादः पति की प्रताड़ना से तंग आकर अहमदाबाद की साबरमती नदी में कूदकर जान देने वाली आयशा की मौत के बाद ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएएम) चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. उन्होंने कहा है कि मैं आप तमाम से अपील कर रहा हूं चाहे आप कोई भी मजहब से हों दहेज की लालच को खत्म करो. इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं उन तमाम मुसलमानों से अपील कर रहा हूं अल्लाह के रसूल सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम (पैगंबर मोहम्मद) ने इरशाद फरमाया था कि तुममे सबसे बेहतरीन वो है जो अपने घरवालों से अच्छा व्यवहार करे.

 

ओवैसी ने कहा, ''अहमदाबाद में जो मुसलमान बच्ची का दर्दनाक वीडियो आया है जिसने खुदकुशी कर ली. मैं आप तमाम से अपील कर रहा हूं चाहे आप कोई भी मजहब से हों दहेज की लालच को खत्म करो. अगर तुम मर्द हो तो बीवी पर जुल्म करना मर्दानगी नहीं है. बीवी को मारना मर्दानगी नहीं है. बीवी से पैसों मुतालबा (मांग) करना मर्दानगी नहीं है. तुम मर्द कहलाने के लायक नहीं हो अगर ऐसी हरकत करोगे.''

 

उन्होंने कहा, ''वो (आयशा का पति) मासूम बच्ची पर जुल्म किया गया. वो तंग आ गई. उस व्यक्ति के मारने और पीटने पर इतना बड़ा इकदाम (कदम) उठा लिया. शर्म आना चाहिए उन लोगों को जिसने इस बेटी के साथ ऐसा किया. मैं अल्लाह से दुआ करूंगा कि अल्लाह तुमको गा़ारत (बर्बाद) करे.''

 

एआईएमआईएएम चीफ ने कहा, ''हर बाप की तकलीफ तुम नहीं समझ सकते. मैं कई ऐसे बाप को जानता हूं जो जिंदगी के आखिरी वक्त में मेरा हाथ पकड़कर कहते हैं असद साहब बच्ची की शादी है कुछ इंतजाम करवा दो. मरने से पहले कुछ हो जाए.''

 

उन्होंने कहा, ''क्या हो रहा है इन लोगों को, कितनी औरतों को तुम मारोगे. कैसे तुम मर्द हो जो तुम बच्चियों को मार रहे हो, उनकी जानें ले रहे हो. क्या तुम में इंसानियत मर चुकी है. ऐसे कितने लोग हैं जो अपनी बीवियों पर जुल्म करते हैं, थप्पड़ मारते हैं. दहेज का मुतालबा करते हैं. हामेला (गर्भवति) बीवियों को ढ़केलते हैं और बाहर निकल कर अपने आप को बड़ा फरिश्ता कहलाते हैं. तुम याद रखो दुनिया को धोखा दे सकते हो अल्लाह को नहीं. अल्लाह देख रहा है, अल्लाह समझ रहा है और अल्लाह जरूर मजलूम (जुल्म सहने वाला) का साथ देगा.''

 

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ''मैं उन तमाम मुसलमानों से अपील कर रहा हूं अल्लाह के रसूल सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम (पैगंबर मोहम्मद) ने इरशाद फरमाया था कि तुममे सबसे बेहतरीन वो है जो अपने घरवालों से अच्छा व्यवहार करे. बेहतरीन अखलाक (चरित्र) वो है जो अपनी बीवियों से अच्छा बर्ताव कर रहा है.''

 

आयशा के सुसाइड पर ओवैसी ने जो बयान दिया है हर तरफ उसकी चर्चा हो रही है. सोशल मीडिया पर इस वीडियो को लोग खूब शेयर कर रहे हैं साथ ही साथ इसकी तारीफ भी कर रह हैं.

शेयर करे...

IMG 20210101 WA0067हैदराबाद, 2 मार्च , 2021: देश की सबसे बड़ी लौह अयस्‍क उत्‍पादक एनएमडीसी ने फरवरी, 2021 के दौरान उत्‍पादन तथा बिक्री में श्रेष्‍ठ प्रचालनात्‍मक प्रदर्शन जारी रखा। 

 

फरवरी, 2021 में लौह अयस्‍क का उत्‍पादन 3.86 मिलियन टन रहा जो फरवरी, 2020 में हुए 3.24 एमटी उत्‍पादन पर 19 % की वृद्धि है।  

 

फरवरी, 2021 में लौह अयस्‍क की बिक्री 3.25 एमटी रही जो फरवरी, 2020 की 2.91 एम टी बिक्री पर 12 % वृद्धि है।  

 

छत्तीसगढ़ में बैलाडीला परियोजनाओं में फरवरी 2021 में उत्‍पादन 3.15 एमटी रहा जो पिछले वर्ष के फरवरी 2020 माह में 2.93 एमटी उत्‍पादन की तुलना में 8 % वृद्धि दर्शाता है। 

 

 

फरवरी,2021 माह में बैलाडीला परियोजनाओं से लौह अयस्‍क की कुल बिक्री 2.62 एम टी रही जो पिछले वर्ष फरवरी 2020 के 2.42 एमटी से 8% अधिक है। 

 

*श्री सुमित देब, अध्‍यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक* ने फरवरी, 2021 के उत्‍पादन एवं बिक्री के आंकड़ों पर चर्चा करते हुए कहा कि “प्रचालन संबंधी चुनौतियों के बावजूद उत्‍पादन एवं बिक्री के आंकडे निश्चित रूप से एनएमडीसी के प्रगतिशील चरित्र को दर्शाते हैं। यह उपलब्धि कर्मचारियों की कड़ी मेहनत एवं प्रतिबद्धता के कारण संभव हुई है। हम उत्‍पादन एवं बिक्री में क्रमशः वृद्धि करने एवं निरंतर नए रिकॉर्ड स्थापित करने आशा करते हैं । “ 

 

एनएमडीसी ने हाल ही में दोणिमलै परियोजना में प्रचालन पुन: प्रारंभ किया है। उक्‍त खान की लौह अयस्‍क उत्‍पादन क्षमता न्‍यूनतम 0.5 एमटी प्रति माह है। दोणिमलै में पुन: प्रचालन होने से कंपनी के समग्र निष्‍पादन में और अधिक वृद्धि होगी ।

शेयर करे...

नई दिल्ली, 2 मार्च | दिल्ली दंगों के मामले में 2 लोगों पर लगे हत्या के प्रयास के आरोपों को हटाते हुए दिल्ली जिला अदालत के एडिशनल सेशन जज अमिताभ रावत ने रूसी उपन्यासकार फ्योडोर डोस्तोव्सकी का हवाला दिया। उन्होंने उपन्यासकार द्वारा लिखी गई लाइन को उद्धृत करते हुए कहा, "सौ खरगोशों से आप एक घोड़ा नहीं बना सकते, वैसे ही सौ संदेह से एक सबूत नहीं बना सकते हैं।" एडिशनल सेशन जज अमिताभ रावत ने सोमवार को दंगों के 2 आरोपी इमरान अलियास तेली और बाबू की याचिका पर सुनवाई की। राज्य की ओर से पेश हुए अभियोजक सलीम अहमद ने कहा कि आरोपियों को 25 फरवरी, 2020 को हथियारों से लैस होकर गैरकानूनी समूह का हिस्सा बनने और दंगों में भाग लेने के लिए आरोपित किया जाना चाहिए। उन्होंने अदालत से अपील की कि दोनों पर धारा 143, 144, 147, 148, 149, 307 के तहत चार्ज लगाना चाहिए।

इस बात से जज संतुष्ट नहीं थे। उन्होंने कहा, "आपराधिक न्यायशास्त्र का कहना है कि आरोप लगाने वालों के खिलाफ आरोप तय करने के लिए कुछ सामग्री होनी चाहिए। केवल संदेह के आधार पर सबूत को आकार नहीं दिया जा सकता है।"

चार्जशीट में आईपीसी या आर्म्स एक्ट की धारा 307 के तहत उन्हें आरोपित करने के लिए कुछ भी नहीं दर्शाया गया है। दोस्तोव्स्की ने 'क्राइम एंड पनिशमेंट' में कहा है कि "सौ खरगोशों से आप घोड़ा नहीं बना सकते और सौ संदेहों से कोई सबूत नहीं बना सकते हैं। लिहाजा आरोपियों को आईपीसी की धारा 307 और आर्म्स एक्ट से बरी किया जाता है।"

शेयर करे...

लखनऊ, 26 फरवरी | लखनऊ की एक अदालत ने हत्या के आरोपी की कथित रूप से एनकाउंटर में मौत के मामले में जांच और प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सुशील कुमारी ने मामला दर्ज करने का आदेश दिया। गौरतलब है कि गिरफ्तारी के बाद कोर्ट द्वारा पुलिस कस्टडी रिमांड में भेजने के बाद 15 फरवरी को गिरिधारी विश्वकर्मा की एनकाउंटर में मौत हो गई थी।

गिरधारी उर्फ 'डॉक्टर' को 6 जनवरी को शहर के पॉश गोमती नगर इलाके में एक गैंगस्टर अजीत सिंह को गोली मारने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

सीजेएम सुशीला कुमारी ने गुरुवार को गिरिधारी की मौत के मामले में वकील सर्वजीत यादव की याचिका पर जांच का आदेश दिया, जिन्होंने पहले बचाव पक्ष के वकील के रूप में गिरिधारी का प्रतिनिधित्व किया था।

अदालत ने कहा, "सुप्रीम कोर्ट के स्पष्ट दिशानिर्देश हैं कि पुलिस मुठभेड़ के मामले में, एक एफआईआर दर्ज की जानी चाहिए और पूरी घटना की सत्यता का पता लगाने के लिए जांच की जानी चाहिए।"

अदालत ने कहा कि यह जांच का विषय है कि क्या पुलिस टीम ने आत्मरक्षा में गिरधारी को गोली मारी या टीम ने आत्मरक्षा के अपने अधिकार का गलत इस्तेमाल किया।

अदालत ने पुलिस उपायुक्त संजीव सुमन, और विभूति खंड के थाना प्रभारी, चंद्र शेखर सिंह को मुठभेड़ स्थल पर मौजूद रहने की बात को संज्ञान में लेते हुए आदेश दिया।

अपने आदेश में, सीजेएम ने कहा कि हालांकि पुलिस ने गिरिधारी की पुलिस हिरासत से भागने और पुलिस पर फायरिंग करने के लिए दो प्राथमिकी दर्ज की लेकिन उसकी मौत की घटना की जांच के लिए कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई।

इससे पहले, अपने आवेदन में, अधिवक्ता यादव ने आरोप लगाया कि एसएचओ चंद्रशेखर सिंह और अन्य पुलिसकर्मियों ने साजिश के तहत गिरधारी को मार डाला और मामले में सबूतों को दबाने के लिए झूठे दस्तावेज तैयार किए।

यह सब तब हुआ जब गिरिधारी खुद सीजेएम द्वारा पारित एक आदेश के आधार पर पुलिस हिरासत में था।

गिरिधारी 15 फरवरी को पुलिस एनकाउंटर में मारा गया था। उसे 6 जनवरी को लखनऊ के पॉश गोमती नगर इलाके में अजीत सिंह को गोली मारने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

गिरधारी की एनकाउंटर में मौत के बाद लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डी.के. ठाकुर ने कहा था कि घटना में तीन पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे।

शेयर करे...

हैदराबाद, देश के सबसे बड़े लौह अयस्‍क उत्‍पादक एवं केंद्र सरकार के सार्वजनिक क्षेत्र के नवरत्‍न उपक्रम एनएमडीसी को मुंबई में 17 एवं 18 फरवरी, 2021 को आयोजित विश्‍व सीएसआर दिवस एवं कांग्रेस के दौरान संगठन वर्ग में सर्वश्रेष्‍ठ सीएसआर पहलों (सामाजिक विकास) तथा सर्वोत्‍तम सीएसआर पद्धतियों के लिए संगठनात्‍मक श्रेणी में "बिजनेस लीडर ऑफ द इयर पीएसयू अवार्ड" से सम्‍मानित किया गया।

वर्ड लीडरशिप कांग्रेस तथा वर्ड सीएसआर कांग्रेस सामाजिक प्रभावकारिता में वृद्धि के लिए नेतृत्‍व करने वाले नेताओं तथा  संगठनों को उनके प्रयासों तथा प्रति‍बद्धताओं के लिए बिजनेस लीडर के रूप में मान्‍यता प्रदान करते हैं। इस अवार्ड के 29वें संस्‍करण में 133 से अधिक देशों के वैश्विक विशिष्‍टजनों, दूरदर्शी लोगों की भारी प्रतिभागिता रही। सीएसआर पहलों (सामाजिक विकास) के लिए संगठन वर्ग में पीएसयू श्रेणी के अंतर्गत वर्ष के बिजनेस लीडर का अवार्ड सुमित देब, अध्‍यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक, एनएमडीसी ने प्राप्‍त किया।

यह अवार्ड भारत में संगठनों द्वारा सुस्थिर तथा न्‍याय संगत समाज के प्रति उनकी भूमिका को पहचान प्रदान करते हैं। अवार्ड ऐसी कंपनियों की सराहना करते हैं जिन्‍होंने सीएसआर तथा सुस्थिरता संबंधी पहलों के लिए सर्वोत्‍तम व्‍यावसायिक पद्धतियां अपनाई हैं तथा इन्‍हें अपने संगठनात्‍मक लोकाचार का एक प्रमुख घटक बनाया है। इससे पर्यावरण तथा जनता पर स्‍पष्‍ट लाभ तथा प्रभाव पड़ता है।

एनएमडीसी सीएसआर - नैगम सामाजिक दायित्‍व के क्षेत्र में अग्रणी रहा है तथा अपनी विस्‍तृत सीएसआर गतिविधियों के माध्‍यम से सामाजिक सुधार को प्रभावित करने में निरंतर अग्रणी रहा है। एक जिम्‍मेवार कार्पोरेट नागरिक होने के नाते यह समाज के प्रति अपने दायित्‍वों को पूर्ण करने में हमेशा अग्रणी रहा है। इसके लाभार्थी अधिकांशत: एनएमडीसी के प्रचालनों के समीपवर्ती क्षेत्रों में निवास कर रहे दूरस्‍थ समुदाय के वंचित लोग होते हैं। एनएमडीसी ने शिक्षा तथा किफायती चिकित्‍सा सुविधाएं प्रदान करने पर ध्‍यान केंद्रित किया है। एनएमडीसी जनता से जुड़े रहने के प्रति संकल्‍पबद्ध है तथा उन्‍हें ऐसी सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध है जिससे कि उनका जीवन बेहतर बन सके। इस वर्ष जनवरी में एनएमडीसी ने छत्‍तीसगढ़ के बस्‍तर क्षेत्र में अपनी सीएसआर गतिविधियों के माध्‍यम से शिक्षा सहयोग योजना के लिए मेटल तथा माइनिंग क्षेत्र में प्‍लेटिनम अवार्ड जीता था।

सुमित देब, सीएमडी, एनएमडीसी ने इस अवसर पर कहा कि "एनएमडीसी सदैव सुस्थिर विकास को गति देने तथा कार्पोरेट सेक्‍टर के अंदर चल रही सामाजिक दायित्‍व की प्रक्रियाओं को बढ़ावा देने के लिए सीएसआर संबंधी कार्य करता रहा है। एनएमडीसी का लक्ष्‍य अपनी परियोजनाओं के समीपवर्ती क्षेत्रों में साक्षरता को बढ़ावा देना, बेहतर चिकित्‍सा सुविधाएं प्रदान करना तथा आधारभूत सुविधाओं का विकास करना है। हमें प्रसन्‍नता है कि हमारे प्रयासों से स्‍थानीय समुदाय को सामाजिक  तथा आर्थिक प्रगति में सहायता मिली है जिससे हमें प्रत्‍येक दिन बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिलती है।"

शेयर करे...

रांची। पत्नी और प्रेमिका के साथ रहने के अलावा पति को हफ्ते में एक दिन ऐसा भी मिला जब वह अपनी मर्जी की जिंदगी जी सकेगा। दूसरे शब्दों में कहें तो वह एक दिन छुट्टी ले सकेगा। मामला झारखंड की राजधानी रांची का है जहां इस अनूठे मामले में एक प्रेमिका ने मिलकर शादीशुदा मर्द का बटवारा कर लिया था। बटवारे के मुताबिक पति हफ्ते में तीन दिन पत्नी था तीन दिन प्रेमिका के साथ रहना था जबकि एक दिन वह अपनी मर्जी की जिंदगी जी सकता था। शख्स पहले से शादीशुदा है जिसका पहली शादी से एक बच्चा भी है लेकिन उसने शादी के बाद प्रेम संबंध बनाए और प्रेमिका को धोखे में रखकर शादी भी रचा ली।

रांची के सदर इलाके में रहने वाले राजेश के एक्सट्रा मैरिटल का पता तब चला जब पत्नी और बच्चे को छोड़कर प्रेमिका के साथ फरार हो गया। इसके बाद पत्नी ने थाने में शिकायत दर्ज कराई। वहीं प्रेमिका के परिजनों ने भी उसके अपहरण की शिकायत दर्ज करा दी। इसके बाद पुलिस शख्स को पकड़कर थाने ले आई। थाने में जैसे ही प्रेमिका के सामने पति का राज खुला कि वह शादीशुदा है तो प्रेमिका ने हंगामा मचा दिया और यौन शोषण की एफआईआर दर्ज करा दी। इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में तीन-तीन दिन वाला लिखित समझौता हुआ।

शेयर करे...

लखनऊ, 15 फरवरी | प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले उत्तर प्रदेश के छात्रों के लिए एक अच्छी खबर है। इन छात्रों को मुफ्त में कोचिंग की सुविधा देने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को 'अभ्युदय' योजना लॉन्च कर दी है। इस योजना के तहत अब पूरे राज्य में मुफ्त में कोचिंग देने वाले सेंटर्स स्थापित किए जाएंगे। इस योजना का मकसद ऐसे सभी छात्रों की मदद करना है जो विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करना चाहते हैं लेकिन आर्थिक तंगी के कारण ऐसा करने में असमर्थ हैं।

इस योजना के जरिए मुफ्त कोचिंग लेने के लिए रजिस्ट्रेशन कराने वाले छात्रों से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि लॉकडाउन के दौरान उन्हें लगा कि उत्तर प्रदेश में भी कोटा जैसे कोचिंग सेंटर स्थापित किए जाने चाहिए। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने छात्रों के योजना से जुड़े सवालों के जबाव भी दिए।

ये कोचिंग सेंटर पहले डिवीजनल लेवल पर स्थापित किए जाएंगे, इसके बाद दूसरे चरण में जिला स्तर पर भी कोचिंग सेंटर बनाए जाएंगे। ये सेंटर्स विद्या की देवी मां सरस्वती के पूजन के दिन वसंत पंचमी (16 फरवरी) से काम शुरू करेंगे। बता दें कि केवल 4 दिनों में ही इस योजना के तहत फ्री में कोचिंग लेने के लिए 4.84 लाख से अधिक छात्र रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। ये छात्र ऑफलाइन क्लासेस में भी शामिल हो सकेंगे और ऑनलाइन कंटेंट भी प्राप्त कर सकेंगे।

इन कोचिंग सेंटर्स से इन क्षेत्रों के दिग्गज भी सीधे तौर पर जुड़ेंगे। मसलन, वरिष्ठ आईएएस, आईपीएस और पीसीएस अधिकारी कोचिंग में छात्रों की काउंसलिंग करेंगे। वहीं नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) और कंबाइंड डिफेंस सर्विसेस (सीडीएस) जैसी परीक्षाओं के लिए उप्र के सैनिक स्कूलों के प्राचार्य प्रशिक्षण देंगे। वहीं नीट और जेईई के लिए अलग से क्लासेस लगेंगी।

इतना ही नहीं सरकार छात्रों को उनके लिए सबसे अच्छा क्षेत्र चुनने में मदद करने के लिए भी सत्र आयोजित करेगी। बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने इस योजना को शुरू करने के लिए 24 जनवरी को घोषणा की थी। उन्होंने कहा था, "ये कोचिंग सेंटर युवाओं को एक नया प्लेटफॉर्म देंगे और उन्हें नई ऊंचाईयां छूने के लिए प्रेरित करेंगे।"

शेयर करे...

तमिलनाडु के दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को यहां राज्य को कई विकास परियोजनाओं की सौगात दी। उन्होंने 3,770 करोड़ रुपये की लागत से बने चेन्नई मेट्रो रेल फेज-1 एक्सटेंशन का उद्घाटन करते हुए वाशरमेनपेट से विम्को नगर तक यात्री सेवा को हरी झंडी दिखाई। चेन्नई मेट्रो का 9.05 किमी लंबा यह एक्सटेंशन नॉर्थ चेन्नई को एयरपोर्ट और सेंट्रल रेलवे स्टेशन से जोड़ेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'चेन्नई बीच और अट्टिपट्टु' के मध्य चौथी रेलवे लाइन का उद्घाटन किया। 293.40 करोड़ रुपये की लागत से तैयार 22.1 किलोमीटर का यह खंड चेन्नई और तिरुवल्लूर जिलों से होकर गुजरता है। इसके बनने से चेन्नई बंदरगाह और इसके आसपास ट्रैफिक कम होगा। रेलवे का यह खंड चेन्नई बंदरगाह और एन्नोर बंदरगाह को आपस में जोड़ता है।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने विल्लुपुरम-कुड्डालोर-मयिलादुथुरई-थंजावुर और मयिलादुथुरई- थिरुवरुर में सिंगल लाइन रेलवे खंड के विद्युतीकरण का उद्घाटन भी किया। 423 करोड़ रुपये की लागत से पूरा हुए 228 किलोमीटर लंबे इस मार्ग के विद्युतीकरण से चेन्नई एग्मोर और कन्याकुमारी के बीच ट्रैक्शन बदले बिना ही सुचारू रूप से यातायात सुनिश्चित होगा। इससे प्रतिदिन करीब 14.61 लाख रुपये के ईंधन की बचत होगी।

 

प्रधानमंत्री ने यहां ग्रैंड एनीकट नहर प्रणाली के विस्तार, नवीनीकरण और आधुनिकीकरण की आधारशिला भी रखी। यह नहर डेल्टा वाले जि़लों में सिंचाई व्यवस्था के लिए काफी महत्वपूर्ण है। इस नहर का आधुनिकीकरण 2,640 करोड़ रुपये की लागत से होगा, जिससे नहरों में जल वहन करने की क्षमता बढ़ेगी। प्रधानमंत्री मोदी ने आईआईटी मद्रास के डिस्कवरी कैंपस की आधारशिला भी रखी। यह कैंपस चेन्नई के पास थय्युर में बनाया जाएगा। पहले चरण में 2 लाख वर्ग मीटर से अधिक एरिया में बनने वाले इस कैंपस के निर्माण में 1000 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

शेयर करे...

गुरुग्राम पुलिस की साइबर क्राइम टीम ने गुरुग्राम के सरस्वती विहार इलाके में संचालित एक अवैध कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने शनिवार को बताया कि कॉल सेंटर ने अमेजन सुरक्षा सहायता सेवा के नाम पर अमेरिकी नागरिकों को ठगने का काम किया।

अपने ग्राहकों को धोखा देने के लिए वे खुद को कंपनी का सर्विस प्रोवाइडर बताते थे।

पुलिस के अनुसार, इंस्पेक्टर आजाद सिंह के नेतृत्व में साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन की एक टीम ने सरस्वती विहार इलाके में कॉल सेंटर पर छापा मारा। छापेमारी के दौरान पुलिस ने आरोपी अंकित चौधरी को गुरुग्राम के सरस्वती विहार हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में गिरफ्तार किया।

चौधरी ने खुलासा किया कि वह नासिर उर्फ चांद और सुमित चौहान के रूप में पहचाने जाने वाले अपने दो सह-सहयोगियों के साथ फर्जी कॉल सेंटर चलाता था।

छापेमारी के दौरान पुलिस ने 5 पुरुषों और 5 महिलाओं को पकड़ा, जो फर्जी कॉल सेंटर में काम कर रहे थे और अमेरिकी नागरिकों के साथ बातचीत कर रहे थे। हालांकि, पूछताछ के बाद पुलिस ने वहां काम कर रहे युवकों को रिहा कर दिया।

पुलिस अधिकारी ने कहा, "हमें विशिष्ट इनपुट मिले कि एक फर्जी कॉल सेंटर ने क्षेत्र में अमेजन सिक्योरिटी सपोर्ट सर्विस प्रोवाइडर के नाम पर कई अमेरिकी नागरिकों को धोखा दिया। युवाओं को कॉल सेंटर में नियुक्त किया गया था, जो दूरसंचार विभाग (डीओटी) द्वारा जारी लाइसेंस के बिना संचालित किया जा रहा था।"

भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और आईटी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत एक प्राथमिकी साइबर अपराध पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है।

शेयर करे...

हैदराबाद 12 फरवरी,2021 भारत में  कजा‍खस्‍तान के अंबेसडर एच.ई. यरलन अलिंवाऐओ ने आज भारत के सबसे बड़े लौह अयस्‍क उत्‍पादक एवं नवरत्‍न कंपनी  एनएमडीसी का दौरा किया ।उन्‍होंने सुमित देब सीएमडी, एनएमडीसी, अमिताभ मुखर्जी, निदेशक वित्त  तथा सोमनाथ नंदी, निदेशक तकनीकी से मुलाकात की तथा कजाख खनन उद्योग को मजबूत बनाने के लिए एनएमडीसी की क्षमताओं का उपयोग करने के संबंध में विचार विमर्श किया साथ ही उच्‍च स्‍तरीय दौरों तथा आपसी गठजोड़ के साथ रणनीतिक भागीदारी को सुदृढ बनाने की योजना पर बल दिया।

कजाखस्‍तान प्राकृतिक संसाधनों के लिए विश्‍व के  सर्वाधिक संभावनाओं वाले बाजारों में से है तथा खनिज आरक्षित क्षेत्रों के मामले में विश्‍व के दस प्रमुख देशों में से है। कजाखस्‍तान वर्तमान में विश्‍व का एक प्रमुख यूरेनियम उत्‍पादक है तथा सरकारी अनुमानों के अनुसार इसके पास क्रोम, कॉपर, मैंगनीज, लौह,लेड तथा जिंक के व्‍यापक  भंडार हैं।

एनएमडीसी खनन उद्योग में अपने साठ वर्षों से अधिक अनुभवों के साथ कजाखस्‍तान के खनिज निक्षेपों में निवेश करने के लिए तैयार है जो कि प्रचालन प्रारंभ होने के स्‍तर पर हैं।

इस अवसर पर बोलते हुए सुमित देब, सीएमडी, एनएमडीसी ने कहा कि “ हमें अंबेसडर एच.ई. यरलन अलिंवाऐओ का स्‍वागत करते हुए प्रसन्‍नता हो रही है। हमारे बीच अत्‍यंत उपयोगी विचार विमर्श हुआ तथा हमने द्विपक्षीय हितोंवाले अनेक महत्‍वपूर्ण अवसरों के लिए आपसी गठजोड़ की संभावनाओं पर विचार विमर्श किया है। कजाखस्‍तान संसाधन से समृद्ध  देश है तथा एनएमडीसी इस क्षेत्र में कजाख कंपनियों के साथ अपनी विशेषज्ञता को आपस में साझा करना चाहेगा।”

शेयर करे...
Page 1 of 61

Magazine

The Edition Today Magazine (July - 2020)