देश

देश (715)

जम्मू और कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों के साथ चल रही मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए हैं। कश्मीर पुलिस ने मंगलवार को ये जानकारी दी। गोलाबारी सोमवार को शुरू हुई जब सुरक्षा बलों ने मेलहोरा में एक इलाके की घेराबंदी की और आतंकवादी उपस्थिति के बारे में एक विशेष जानकारी के आधार पर तलाशी अभियान शुरू किया। जैसे ही सुरक्षा बल उस स्थान पर पहुंचे, जहां आतंकवादी छिपे हुए थे, वे आतंकवादियों की फायरिंग की चपेट में आ गए, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। एक आतंकवादी को सोमवार शाम को मार दिया गया, दूसरे को मंगलवार की सुबह ढेर कर दिया गया। पुलिस ने कहा, शोपियां मुठभेड़ में दो अज्ञात आतंकवादी मारे गए हैं। तलाशी अभियान अभी भी जारी है।
शेयर करे...

आज शाम 6 बजे पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन. पीएम मोदी ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. उन्होंने लिखा- आज शाम 6 बजे राष्ट्र के नाम संदेश दूंगा। आप जरूर जुड़ें। Will be sharing a message with my fellow citizens at 6 PM this evening. आपको बता दें कि कोरोना वायरस का संकट देश में लगातार जारी है, पीएम लोगों से लगातार नियमों का पालन करने की अपील करते आए हैं.

पीएम मोदी की ओर से मंत्र दिया गया है कि जबतक दवाई नहीं, तबतक ढिलाई नहीं.गौरतलब है कि देश में इस वक्त त्योहारों का वक्त चल रहा है और आने वाले दिनों में लगातार त्योहार ही त्योहार हैं, ऐसे में सरकार की ओर से एक बार फिर सख्ती बरती जा रही है. हाल ही में भले ही कोरोना के केस में कमी आई हो, लेकिन त्योहार के कारण बाजारों में भीड़ हो सकती है ऐसे में सावधानी के तौर पर सरकार की ओर से लगातार लोगों से अपील की जा रही है

शेयर करे...

UP में हाथरस में दलित युवती के साथ कथित दुष्कर्म के बाद बाराबंकी में इस तरह की घटना से सनसनी फैल गई है। यहां के सतरिख थाना क्षेत्र में धान काटने गई 17 वर्षीया दलित बालिका के साथ दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर दी गई। पीड़ित पक्ष की गुहार पर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। हाथरस मामले की जहां सीबीआइ जांच चल रही है, वहीं बाराबंकी के केस में अभी आरोपियो की तलाश जारी है।

बाराबंकी के थाना सतरिख की ग्राम पंचायत सेठमऊ के एक गांव निवासी अनुसूचित जाति की किशोरी की हत्या के मामले में बुधवार देर रात उसके पिता की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज की थी। किशोरी की हत्या दुष्कर्म के बाद की गई थी। यहां पर डॉक्टरों के पैनल व वीडियोग्राफी में हुए पोस्टमार्टम में दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। मुकदमे में पुलिस ने दुष्कर्म की धारा बढ़ा दी है और कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। वारदात के बाद गांव में फिलहाल एहतियातन पुलिस बल तैनात है। आइजी अयोध्या डॉ. संजीव गुप्ता ने भी घटनास्थल का जायजा लिया और परिवारजन के बयान को दर्ज कराया है।

बाराबंकी में नाबालिग लड़की की दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में पीडि़त परिवार ने हाथरस केस की तरह ही सीबीआइ जांच की मांग की है। मृत लड़की के पिता ने कहा कि पुलिस ने यहां हमारे ऊपर काफी दबाव बनाया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से पहले पुलिस ने उसकी बेटी का गांव में ही अंतिम संस्कार करवा दिया था। उन्होंने कहा कि हमारी बेटी नाबालिग तथा कुंवारी थी, हम उसको दफनाना चाहते थे, लेकिन पुलिस ने दबाव डलवाकर उनकी चिता को आग लगवा दी। इस तरह से हमको पैसा व मकान का लालच दिया गया है। हम लोग बहुत गरीब है, न तो रहने का ठिकाना है और न ही खाने की ठिकाना है। हम लोग तो मेहनत व मजदूरी करने वाले लोग हैं। हमारे पास को काफी बड़े-बड़े अफसर आने लगे तो हम लोग डर गए। हमको पैसा तथा मकान दिलाने का लालच दिया गया है। जब उनसे दुष्कर्म के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कम से कम तीन लोग रहे होंगे। अब पुलिस उनको पकडऩे की जगह पर हमारे घर के लोगों से ही लगातार पूछताछ में लगी है। हमारे भाई के मकान पर भी लगातार पुलिस आ-जा रही है। हमको न्याय मिले, हम बस यही चाहते हैं। पुलिस तो शुरुआत में मामले को दबाने में लगी रहील लेकिन गुरुवार देर शाम आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म के बाद गला दबा कर हत्या करने की पुष्टि हुई। माता-पिता ने कहा कि सिर्फ शव को जलाने के लिए पुलिस हमारी नाबालिग बेटी को बालिग बताने में लगी है।

क्षेत्र के एक गांव निवासी 17 वर्षीय किशोरी बुधवार को बटाई के खेत में धान काटने गई थी। देर शाम उसका शव एक खेत में पड़ा मिला था। बताया जाता है कि किशोरी के हाथ-पैर बंधे थे और कपड़े अस्त-व्यस्त थे। इस मामले में पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। गुरुवार को पोस्टमार्टम में किशोरी के साथ दरिंदगी की पुष्टि हुई। वारदात में एक से अधिक लोगों के शामिल होने की बात कही जा रही है। रिपोर्ट में मुंह दबाने से मौत की पुष्टि हुई है। फॉरेंसिक टीम ने साक्ष्य संकलन किया। प्रभारी एसपी आरएस गौतम ने बताया कि दुष्कर्म की पुष्टि के बाद धारा बढ़ा दी गई है। कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है।

शेयर करे...

मुंबई. महाराष्ट्र में एक दर्दनाक हादसा हुआ है. यहां राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता संजय शिंदे (Sanjay Shinde) की कार में हैंड सैनिटाइजर की वजह से आग लग गई. हादसे में वह जिंदा जल गए. बताया जा रहा है कि कार में शॉर्ट सर्किट हुआ था और हैंड सैनिटाइजर (Hand Sanitizer) की वजह से आग फैल गयी. संजय शिंदे की गाड़ी में जिस समय आग लगी, उस वक्त वह मुंबई-आगरा हाइवे पर पिंपलगांव बसवंत टोल प्लाजा के पास थे. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

बताया जा रहा है कि एनसीपी नेता संजय शिंदे (Sanjay Shinde) की कार में जब आग लगी, तो वह दरवाजे को खोलने और विंडो को तोड़ने की कोशिश करने लगे, लेकिन कार का सेंट्रल लॉक लगने की वजह से वह तुरंत दरवाजे नहीं खोल सके और उनकी अंदर ही जलकर मौत हो गई.

शेयर करे...

उत्तर प्रदेश: देश में कोरोना का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है वही इसी बीच खबर आ रही है कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री भी कोरोना के चपेट मे आ गए। बता दें मुलायम सिंह को वह डॉक्टर की निगरानी में रखे गए है। समाजवादी पार्टी ने ट्वीट कर जानकारी दी है।

पार्टी की ओर से ट्वीट किया गया कि मुलायम सिंह यादव की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने के उपरांत चिकित्सकों की देख रेख जारी है। फिलहाल उनमें कोरोना के एक भी लक्षण नहीं हैं।
सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट किया कि  नेताजी का स्वास्थ्य स्थिर है। कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उन्हें गुरुग्राम के मेदांता में भर्ती कराया गया है। हम वरिष्ठ डॉक्टरों के निरंतर संपर्क में हैं।
80 साल के हो चुके मुलायम सिंह को अक्सर पेट में दर्द की शिकायत भी रहती है। हाल के दिनों में कई बार वो अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं। इसी साल मई में उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। पेट में दर्द की शिकायत के बाद उनको मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।
वहीं, पिछले साल दिसंबर महीने में भी मुलायम सिंह को पेट में शिकायत के बाद मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इससे भी पहले नवंबर-2019 में मुलायम सिंह यादव को लखनऊ के पीजीआई अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जून-2019 में भी उनकी तबीयत बिगड़ गई थी और उनको गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। उस वक्त उनको यूरिनरी रिटेंशन की शिकायत बताई गई थी।

शेयर करे...

खाद्य और कृषि संगठन (FAO) के साथ भारत के संबंध को चिह्नित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 अक्टूबर को 75 रुपये का स्मारक सिक्का (commemorative coin) जारी करेंगे। 16 अक्टूबर को खाद्य और कृषि संगठन की 75वीं वर्षगांठ पर यह सिक्का जारी किया जाएगा। भारत के एफएओ के साथ संबंध को चिह्नित करने के लिए यह सिक्का जारी किया जाएगा। इस इवेंट में सबसे ज्यादा कृषि और पोषण को प्राथमिकता दी जाएगी। इसमें देश में मौजूद कुपोषण को पूरी तरह से समाप्त करने के संकल्प लिया जाएगा। यह कार्यक्रम देश भर के आंगनवाड़ियों, कृषि विज्ञान केंद्रों, जैविक और बागवानी मिशनों के सामने होगा।

पीएमओ द्वारा जारी किए गय बयान के मुताबिक, कमजोर वर्गों और जनता को आर्थिक और पोषक रूप से मजबूत बनाने में एफएओ की यात्रा अतुलनीय रही है। भारत के एफएओ के साथ काफी अच्छे संबंध रहे हैं। जारी किए गए बयान में बताया गया कि भारतीय सिविल सेवा अधिकारी डॉ। बिनय रंजन सेन 1956-1967 के दौरान FAO के महानिदेशक थे।

डॉ. विनय के समय में ही विश्व खाद्य कार्यक्रम, जिसने नोबेल शांति पुरस्कार 2020 जीता गया था। एमओ ने कहा, "2016 में अंतर्राष्ट्रीय वर्ष के लिए भारत के प्रस्तावों और 2023 के अंतरराष्ट्रीय वर्ष के प्रस्तावों को भी एफएओ द्वारा समर्थन दिया गया'।

शेयर करे...
नई दिल्ली: अनलॉक 5 की प्रक्रिया के तहत मंगलवार से दिल्ली का अक्षरधाम मंदिर भी खुल गया है, कोरोना संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए पूरे तरीके से सावधानी बरती जा रही है। वॉटर शो के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया है। दर्शकों के बीच 6 फीट की दूरी रखी जाएगी और सैनिटाइजर से लेकर अन्य आवश्यक सामग्री की व्यवस्था प्रदर्शनी स्थल पर होगी। वहीं देशभर में 15 अक्टूबर से सिनेमाघर खुल जाएंगे। लॉकडाउन के बाद से पहली बार ये सिनेमाघर खोले जाएंगे। इसको लेकर सिनेमाघर चलाने वालों ने सात महीने बाद सिनेमाहॉल को खोलने को लेकर तैयारी शुरू कर दी है। लेकिन सिनेमाहॉल तक जाने वाले लोगों के लिए कोरोना काल में फिल्म देखने का अनुभव बदलने वाला है।
शेयर करे...
कानपुर: कानपुर स्वरूप नगर थाना अंतर्गत प्रखर हॉस्पिटल के पास मारुति सुजुकी के शोरूम वाली गली में Z Spa की आड़ में सेक्स रैकेट संचालित हो रहा है। हमारे हाथ पुख्ता सबूत भी लग गए एसपी पश्चिम डॉक्टर अनिल कुमार को और कानपुर के डीआईजी/एसएसपी को सूचना दी गई। नाम न छापने की शर्त पर पुलिस को ठीक-ठाक पद पर बैठे एक नुमाइंदे ने बताया। सूचना के करीब 2 घंटे बाद पुलिस पहुंची तब तक स्टाफ और संचालक स्पा में ताला मार कर मौके से भाग चुका था। उसी में काम करने वाला एक नाबालिक लड़का पकड़ में आया( जिसका नाम आयुष था)। एसपी वेस्ट डॉक्टर अनिल कुमार के द्वारा अन्य थाने की फोर्स को छापेमारी के लिए भेजा गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने नाबालिक युवक आयुष जोकि संचालक का साला उससे पूछताछ की तो पता चला उसका जीजा और दीदी स्पा की आड़ में सेक्स रैकेट संचालित करते हैं। संदेह था कि क्षेत्रीय पुलिस की मिलीभगत के चलते रैकेट संचालित हो रहा है जिस कारण डॉक्टर अनिल कुमार एसपी वेस्ट काकादेव पुलिस को छापेमारी के लिए भेजा लेकिन छापेमारी करने पहुंची अन्य थाने की पुलिस तो पुलिस स्वरूप नगर पुलिस के साथ हाथ मिलाती नजर आई। लोगों को संदेह था कि केवल मालिक ही ताला लगा कर नौ दो ग्यारह हुआ है बाकी स्टाफ अंदर ही मौजूद है पुलिस ने संदेह के आधार पर नाबालिग युवक आयुष को स्वरूप नगर के ही दो सिपाहियों के साथ उसकी दीदी के घर से चाभी लाने को कहा सिपाहियों ने शादी के साथ उस युवक को मौके पर ना लाकर उसे थाने लेकर चले गए और सांठगांठ करके वापस ले आए जिसका वीडियो हमारे पास मौजूद है। पुलिस ने ताला खुलवा कर स्पा सेंटर के अंदर एंट्री की लेकिन मीडिया की एंट्री से परहेज किया और कहा केवल दो पत्रकारों को ही अंदर भेजिए। दरअसल छापेमारी करने पहुंची पुलिस तो ताला खुलने के बाद छापेमारी कर ही नहीं रही थी पुलिस तो केवल महज खानापूर्ति कर रही थी। ओके से कई आपत्तिजनक सामग्री जैसे कि शराब की बोतलें व अन्य कई चीजें बरामद हो सकती थी लेकिन पुलिस ने एक एक चीज को हटाकर देखना उचित नहीं समझा क्योंकी पुलिस तो वहां पर महज खानापूर्ति करने पहुंची थी। छापेमारी करने पहुंची पुलिस पुख्ता सबूत के बाद भी पुलिस ने Spa मालिक को गिरफ्तार किया ना ही स्पा सेंटर को बंद करवाया। पुलिस की इस तरह की कार्यशैली से कहीं ना कहीं यह बात साबित होती है कि Z Spa की आड़ में चल रहे सेक्स रैकेट में कहीं ना कहीं पुलिस की भूमिका संदिग्ध नजर आ रही है। जिस कारण पुलिस ने स्पा सेंटर के मालिक के खिलाफ अभी तक कोई कड़ी कार्यवाही नहीं की ना ही स्पा सेंटर कोशिश किया और जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ते हुए मौके से नौ दो ग्यारह हो गई। हालांकि सीओ स्वरूप नगर ने साक्ष्यों के आधार पर कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन भी दिया।
शेयर करे...
गोंडा : भारत में महिलाओं और युवतियों से जुड़े अपराध बढ़ते ही जा रहे हैं. एक ओर पूरा देश गैंगरेप की घटनाओं से दहल उठा है तो इसी बीच एसिड अटैक की घटना भी सामने आ रही है. यूपी के गोंडा जिसे में तीन नाबालिग बहनों पर ऐसिड फेंका गया है.दो बहने मामुली रूप से घायल बताए जा रहे हैं, जबकि एक का चेहरा जल गया है. तीनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जानकारी के मुताबिक, घटना परसपुर थाना पसका अंतर्गत परसपुर में सोमवार रात को हुई. बताया जा रहा है कि तीनों बहने घर में सोई हुई थी. इसी बीच उन पर एसिड से हमला हुआ. उनका इलाज स्थानीय जिला अस्पताल में चल रहा है. एसिड फेंकने का कारण अज्ञात है. फिलहाल पुलिस इसकी जांच में जुटी हुई है.
शेयर करे...

मुंबई : मुंबई का चारकोप पुलिस स्टेशन जहां FIR तो लिखा जाता है पर कार्यवाही के नाम पर आश्वाशन मिलता है। कुछ महीने पहले पुलिस ने एक महिला का घरेलू हिंसा, दहेज उत्पीड़न का FIR दर्ज किया पर आज तक कारवाही के नाम पर सिर्फ आश्वाशन महिला पुलिस स्टेशन के चक्कर काट काट कर परेशान हो गई है। वो महिला अधिकारियों से बात करती है तो कोरोना का बहाना करके उसको टाल दिया जाता है। अभी तक पुलिस ने आरोपी पक्ष को ना पुलिस ने बुलाया और ना ही कोई कारवाही की। इन दिनों मुंबई पुलिस अपनी कार्यशैली पर पूरे देश में प्रसिद्ध है।

शेयर करे...
Page 1 of 52

Magazine

The Edition Today Magazine (July - 2020)