देश

देश (159)

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस प्रकोप के मद्देनजर ‘प्रधानमंत्री नागरिक सहायता एवं आपात स्थिति राहत कोष’ (पीएम केयर्स फंड) के नाम से एक सार्वजनिक धर्मार्थ ट्रस्ट की स्थापना की है।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस के खतरे से निपटने में मदद के लिए रेल मंत्रालय ‘‘प्रधानमंत्री नागरिक सहायता एवं आपात स्थिति राहत कोष’’ (पीएम केयर्स फंड) को 151 करोड़ रुपये दान करेगा।

शेयर करे...

नई दिल्ली: राहुल गाँधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र,  तीन पन्नों के पत्र में राहुल ने लॉकडाउन का समर्थन किया है। पत्र में उन्होंने मजदूरों के पलायन को लेकर चिंता जाहिर की है। राहुल ने कहा कि हम सभी इस संकट के समय वायरस के खिलाफ सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदम में सहयोग देने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि भारत की परिस्थिति अलग है। हमें दूसरे देशों की लॉकडाउन रणनीति से इतर कदम उठाने होंगे। राहुल ने कहा कि हमारे देश में दिहाड़ी पर काम करने वाले गरीब लोगों की संख्या ज्यादा है इसलिए हम आर्थिक गतिविधियों को बंद नहीं कर सकते।

पूरी तरह से आर्थिक बंदी के कारण कोविड-19 वायरस से होने वाली मृत्यु दर बढ़ जाएगी।राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि वे 'राष्ट्रव्यापी देशबंदी का हमारे लोगों, हमारे समाज और हमारी अर्थव्यवस्था पर पड़े संभावित प्रभाव' पर दोबारा विचार करें। उन्होंने कहा कि 'अचानक हुई देशबंदी से दहशत और भ्रम की स्थिति पैदा हो गई' जिसके कारण बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर अपने घर वापस जाने की कोशिश कर रहे हैं। राहुल ने पत्र में लिखा है कि हमारे यहां रोज की कमाई पर निर्भर रहने वाले गरीब लोगों की संख्या काफी ज्यादा है। इसलिए एकतरफा कार्रवाई करके सभी आर्थिक गतिविधियों को बंद नहीं कर सकते हैं। आर्थिक गतिविधियों को बंद कर देने से कोविड-19 की तबाही और बढ़ जाएगी।

शेयर करे...

दिल्ली: देश के लगभग हर राज्य से कोरोना के मरीज सामने आ रहे हैं | अब तक प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक देश में कुल कोरोना संक्रमति मरीजों का आंकड़ा 1000 पार हो गया है | जबकि मृतकों की संख्या 27 तक पहुंच गई है | देश में लॉकडाउन का आज पांचवां दिन है | लोग जहां तहां फंसे हैं जिनकी मदद में राज्य सरकारें उतरी हैं और उन्हें उनके गंतव्य तक भेजा जा रहा है |

लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है बुजुर्गों को जिनके अपने दूर हैं और उनके लिए जरूरत का सामान जुटाना भी मुश्किल हो रहा है | कोरोना की वजह से घर के बाहर फंसे लोग परेशान हैं तो कुछ लोग घर के अंदर नए तरह की परेशानी झेल रहे हैं | किसानों पर कोरोना संकट की मार जबरदस्त पड़ी है | बेमौसम बारिश और ओले से जो फसल बचकर तैयार हुई उसकी कटाई के लिए मजदूर नहीं मिल रहे | फूलों और सब्जियों का बाजार भी मंदा है |

शेयर करे...

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस थमने का नाम नहीं ले रहा है। देश में कोरोना का कहर जारी है। हर दिन नए मरीजों का पता चल रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर में लगातार बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 979 हो गई है। इसमें 86 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है, वहीं देश में 25 लोगों की जान जा चुकी है। बता दें कि देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में रविवार को सात नए मामले सामने आए हैं। कोरोना वायरस के अहमदाबाद में तीन नए मामले सामने आए। अब तक गुजरात में कुल 58 मामले सामने आ चुके हैं।

शेयर करे...

कोरोंना महामारी पर लगाम लगाने के प्रयासों में भारतीय रेलवे भी हाथ बंटा रही है। रेलवे अब ट्रेन के नॉन-एसी डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड की रूपरेखा देने में जुट गई है। इन ट्रेन कोचों में संक्रमण के संदिग्ध लोगों को क्वारेंटाइन के लिए रखा जाएगा। यहां उनके लिए दवाइयां और भोजन की भी व्यवस्था की गई है।

रेलवे का कहना है कि अगर इस मॉडल को हरी झंडी मिल गई तो हर रेलवे जोन सप्ताह में 10-10 बोगियों को आइसोलेशन वार्ड में बदलना शुरू कर देगा। रेलवे के मुताबिक, इससे दूर-दराज के इलाकों में कोविड-19 के मरीजों के इलाज में मदद मिलेगी।

शेयर करे...

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज लोन लेने वाले ग्राहकों को बड़ी राहत दी है। RBI ने आज सभी बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्‍तीय संस्‍थाओं और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों के साथ अन्‍य वित्‍तीय संस्‍थानों को टर्म लोन की किस्‍त तीन महीने तक टालने को कहा है। RBI ने अपने बयान में कहा है, 'सभी कॉमर्शियल, क्षेत्रीय, ग्रामीण, एनबीएफसी और स्‍मॉल फाइनेंस बैंकों को किस्‍त के भुगतान पर 3 महीने का मोरैटोरियम देने की अनुमति दी जाती है।

शेयर करे...

दिल्ली। कोरोना के बीच एक राहत की खबर है, केंद्र सरकार के बड़े ऐलान के बीच अब रिजर्व बैंक ने भी आमलोगों को राहत की सौगात दी है। तीन महीने तक EMI पर छूट दी गयी है। रिजर्व बैंक के गर्वनर ने प्रेस कांफ्रेस कर इस राहत का ऐलान किया आरबीआई के मुताबिक रेपो रेट में 75 बेसिस प्वाइंट की कटौती की है। इस कटौती के बाद रेपो रेट 5.15 से घटकर 4.45 फीसदी पर आ गई है।

शेयर करे...

नई दिल्ली। कोरोना लॉकडाउन के बीच सरकार ने अहम फैसला लिया है। लॉकडाउन के बीच फैंस के लिए बड़ी खुशखबरी सामने आई है। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को बताया कि जनता की मांग पर शनिवार 28 मार्च से 'रामायण' का प्रसारण फिर से दूरदर्शन के नेशनल चैनल पर शुरू होगा। उन्होंने कहा कि पहला एपिसोड सुबह 9.00 बजे और दूसरा एपिसोड रात 9.00 बजे होगा। यही नहीं, सरकार बी आर चोपड़ा के मशहूर सीरियल 'महाभारत' को भी फिर से प्रसारित करने की संभावना तलाश रही है। रामानंद सागर कृत 'रामायण' का प्रसारण साल 1987 में पहली बार और बीआर चोपड़ा की 'महाभारत' का प्रसारण साल 1988 में पहली बार दूरदर्शन पर हुआ था।

शेयर करे...

नई दिल्ली। आरबीआई सहित देश के अन्य बड़े बैंक लॉकडाउन के दौरान अधिकतर शाखाओं को बंद करने की योजना बना रहे हैं। उनका मकसद अपने हजारों कर्मचारियों और उनके परिजनों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाना है। मामले से जुड़े चार सूत्रों ने बताया कि इस दौरान सरकारी योजनाओं का पैसा ग्रामीण जनता के हाथों तक पहुंचाया जाएगा।

कोरोना से जंग के लिए सरकार ने देश की 130 करोड़ जनता को 21 दिन तक घरों में रहने का आदेश दिया है, जबकि बैंकों को जरूरी सेवा मानते हुए छूट दी गई है।हालांकि कोरोना का संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ता हुआ नजर नहीं आ रहा है लेकिन फिर भी उसका संक्रमण कम होता या घटता हुआ नजर नहीं आ रहा है जो बेहद चिंता का विषय है।

कुल मिलाकर देखा जाए तो अभी तक के तमाम उपाय कोरोब के संक्रमण को पूरी तरह रोकने में लगभग असफल ही साबित हुए हैं। अब उसके लिए अंतिम उपाय बचाव ही कारगर होता नजर आ रहा है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी बार बार लोगों से सावधान रहने की बात कर रहे हैं और कोरोना बचकर रहने की बात कर रहे हैं।उनकी बातों को जनता को समझना होगा अमल में लाना होगा,तभी कोरोना पर विजय सम्भव हो पाएगी।

शेयर करे...

नई दिल्ली। महामारी का कहर कम होता नजर नहीं आ रहा है। तमाम कोशिशों के बावजूद पीड़ितों और मृतकों की संख्या रोज बढ़ रही है। कल हुई चार मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 16 तक पहुंच गया है। पीड़ितों की संख्या भी 700 के करीब जा पहुंची है। प्रधानमंत्री मोदी के आव्हान पर देश में लॉक डाउन चल रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग का फार्मूला कोरोना को नियंत्रित तो करता नजर आ रहा है लेकिन लोगों की लापरवाही उसका असर कम करती नजर आ रही है।

शेयर करे...
Page 1 of 12