वीडियो-शिक्षिका ने निभाया बेटे का धर्म...मुखाग्नि देकर किया पिता का अंतिम संस्कार Featured

By Sumit Sengar June 20, 2020 916 0

जगदलपुर । किसी की मृत्यु हो जाने पर उसके पुत्र द्वारा शव को मुखाग्नि दिए जाने की पुरातन भारतीय परंपरा रही है । लेकिन आधुनिक समाज में परंपराएं बदल रही हैं और रूढ़ियों की बेड़ी तोड़कर नारी शक्ति अपनी जवाबदारी पूरी करती दिख रही हैं ।ऐसा ही एक वाकया जगदलपुर के मुक्तिधाम में देखने को मिला । महावीर नगर निवासी गौरीशंकर बिसेन जिनकी उम्र 82 वर्ष थी शुक्रवार की रात उनकी मौत हो गई। शनिवार की सुबह बेटी पूर्णिमा देहरी ने मुक्तिधाम में अपने पिता का अंतिम संस्कार उनके शव को मुखाग्नि देकर किया । पूर्णिमा एक शिक्षिका है। बुजुर्ग पिता उन्हीं के साथ रहा करते थे । कोई भाई ना होने के चलते पूर्णिमा ने अपने पिता के लिए पुत्र की तरह अंतिम संस्कार की रस्में निभाई । आंखों में आंसू और हाथ में अग्नि लिए पूर्णिमा ने अपने पिता की आत्मा की शांति के लिए वह काम किया जो परंपरागत रूप से मृतक का पुत्र ही करता है ।

Rate this item
(6 votes)
Last modified on Saturday, 20 June 2020 11:25
शेयर करे...

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Magazine

The Edition Today Magazine (July - 2020)