अंतागढ़ पुलिस को मिली बड़ी सफलता, साइबर ठगी मे संलिप्त आरोपित पुलिस की गिरफ़्त मे Featured

 

अंतागढ़ से जावेद खान :- ओएलएक्स पर सेकेंड हैंड बाइक बेचने के नाम पर अंतागढ निवासी आरिफ अली से ठगी करने वाले मुजफ्फरनगर उत्तरप्रदेश के बिहारी ग्राम मे रहने वाले घसीटा सैनी पिता बलबीर सैनी को उसके निवास स्थान से गिरफ्तार करने में अंतागढ़ पुलिस ने कामयाबी हासिल की है।

 

मामला अंतागढ़ थाना क्षेत्र का है। ओएलएक्स पर सेकेंड हैंड बाइक खरीदने के लिए 18 जुलाई 2020 को अंतागढ़ निवासी आरिफ अली की बात घसीटा सैनी से हुई, जो कि स्वयं को जांजगीर चांपा का निवासी व आर्मी पर्सन होना भी बताया। तीन अलग अलग नम्बरों से बात होने के पश्चात आरिफ अली ने विभिन्न किश्तों में लगभग 68 हजार रूपये घसीटा सैनी को पेटीएम द्वारा ट्रांसफर कर दिया।

 

पेटीएम से आरोपित के खाते मे पैसे ट्रांसफर होने के बाद जब आरिफ को खुद के ठगे जाने का एहसास हुआ तो उसने नागपुर साइबर क्राइम में ऑनलाइन इसकी शिकायत 

 दर्ज कराई। इसके बाद नागपुर साइबर क्राइम ने अंतागढ़ पुलिस से इस विषय मे चर्चा की व जिसकी जानकारी जिला के पुलिस अधीक्षक को देने के बाद पूरी रणनीति बनाकर पुलिस अधीक्षक कांकेर के निर्देश पर अंतागढ़ पुलिस ने नोएडा स्थित पेटीएम हेडक्वार्टर से पूरी जानकारी ली तत्पश्चात आरोपित को उत्तरप्रदेश के मुजफ्फनगर के बिहारी गांव से गिरफ्तार किया गया।

 

बता दें क्षेत्र मे इस प्रकार से साइबर ठगी का यह पहला मामला नही है, इसके पूर्व भी लगभग साल भर पहले एक निजी दुकान संचालक भी आनलाइन खरीदी के चलते ठगी का शिकार हो चुका है, जिसकी शिकायत अंतागढ़ थाने मे दर्ज कराई जा चुकी है। साइबर ठगी के मामले दिन-प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं, ऐसी स्थिति मे पुलिस के लिए निश्चित ही यह एक बड़ी सफलता है।

 

इस संबंध मे उपनिरीक्षक संजय यादव ने कहा कि लोगों मे जागरूकता की कमी से अक्सर वो इस तरह की ठगी का शिकार हो जाते हैं। कस्टमर केयर के नाम पर अनेक फ़र्जी नंबर आनलाइन साइट पर उपलब्ध हैं, जो कि इस प्रकार के क्राइम को बढ़ावा देते हैं, अतः लोगों को इस संबंध मे सावधानी बरतनी चाहिए साथ ही स्वयं भी जागरूक होकर अन्य को भी इस बारे मे जानकारी देकर जागरूक करना चाहिए, जिससे इस प्रकार के अपराध को रोका जा सके व कोई भी ऐसी ठगी का शिकार ना हो।

 

बता दें आरोपित घसीटा सैनी को उपनिरीक्षक संजय यादव के नेतृत्व में आरक्षक योगेश्वर भेड़िया, विजय कटकवार, मोहन दुग्गा एवं उत्तरप्रदेश के स्थानीय पुलिस के सहयोग से हिरासत मे लिया गया ।

Rate this item
(0 votes)
Last modified on Tuesday, 12 October 2021 13:07
शेयर करे...

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Magazine